जागरण संवाददाता, कोलकाता : सीएए और एनआरसी के खिलाफ तृणमूल प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का विरोध हर तरीके से सामने आ रहा है। राजनेता के साथ एक लेखक और एक चित्रकार के रूप में भी मुख्यमंत्री लगातार विरोध जता रही हैं। इसी क्रम में सीएए और एनआरसी की मुखालफत को दर्शाती मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा बनाए गए चित्रों की प्रदर्शनी बुधवार से कोलकाता के मेट्रो चैनेल में शुरू हुई। भाजपा के खिलाफ बनाए गए इन चित्रों की प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में नाट्यकार रुद्रप्रसाद सेनगुप्ता, चित्रकार शुभप्रसन्न शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी, निर्मल माझी जैसी कई शख्यित। हालांकि अभी भी रुद्रप्रसाद सेनगुप्ता को अभी भी तृणमूल समर्थक बुद्धिजीवी नहीं माना जाता। इसलिए इस उद्घाटन समारोह में उनकी उपस्थिति के अलग मायने निकाले जा रहे हैं।

गौरतलब है सीएए और एनआरसी के विरोध में जारी आंदोलन के बीच 28 जनवरी को चित्रकारों ने एक विरोध प्रदर्शन करने का फैसला किया था। उस दौरान कई नामी चित्रकारों के साथ धर्मतल्ला स्थित गांधी प्रतिमा के नजदीक खुद सीएम मुख्यमंत्री भी उपस्थिति थे।

सभी ने विरोध स्वरूप चित्र बनाने का फैसला किया। सभी के साथ मुख्यमंत्री ने रंग और ब्रश के माध्यम से कैनवास पर अपना विरोध चित्रित किया। उन्हीं तस्वीरों को आम आदमियों के देखने के उद्देश्य से इस प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। मौके पर उपस्थित चित्रकार शुभप्रसन्न ने बताया कि तस्वीरों की प्रदर्शनी दिल्ली सहित प्रत्येक राज्य की राजधानी में लगेगी। उन्होंने कहा कि जितने अधिक लोंगो तक मुख्यमंत्री का संदेश पहुंचेगा, उतना देश का भला होगा। 

सीएए और एनआरसी के खिलाफ तृणमूल प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का विरोध हर तरीके से सामने आ रहा है। राजनेता के साथ एक लेखक और एक चित्रकार के रूप में भी मुख्यमंत्री लगातार विरोध जता रही हैं। इसी क्रम में सीएए और एनआरसी की मुखालफत को दर्शाती मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा बनाए गए चित्रों की प्रदर्शनी बुधवार से कोलकाता के मेट्रो चैनेल में शुरू हुई। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस