-जगह-जगह पर बांटी गई खिचड़ी,पतंगबाजी का लिया गया आनंद

जागरण संवाददाता: सिलीगुड़ी : मकर सक्रांित के अवसर को लेकर घरों और मंदिरों में रौनक देखी गई। इस बार मकर संक्रांति का पालन दो दिन किया गया। शुक्रवार के बाद शनिवार को भी श्रद्धालु सुबह से ही दान-पुण्य करने में व्यस्त नजर आए। श्रद्धालुओं ने स्थानीय नदियों के तट पर डुबकी लगाई। इस अवसर को लेकर महिलाएं व्यस्त रही। खासकर मारवाड़ी समुदाय में मकर सक्रांति को लेकर कई रस्मों का पालन किया गया। जिसमें नई-नवेली दुल्हन के द्वारा मायके से आए घेवर को परिवार के बड़ों को देकर आशीर्वाद ग्रहण किया। वहीं पतंगबाजी भी खूब हुई। सुबह से छतों पर पतंग उड़ाने वाले नजर आए। जहां पर कई परिवार भी पतंगबाजी का आनंद उठाते नजर आए। इसी क्रम में मिठाई की दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ देखी। हिलकार्ट रोड, सेवक रोड, महाबीर स्थान, खालपाड़ा सहित अन्य इलाकों में खिचड़ी का वितरण किया गया। गौशाला में भी सवामनी चढ़ाई गई। श्रद्धालुओं का मानना है कि मकर सक्रांति के दिन दान-पुण्य करना शुभ माना जाता है। इसलिए वे बढ़चढ़ कर दान-पुण्य कर रहे हैं। गायों के लिए चारा की व्यवस्था की गई थी। घरों में भी खिचड़ी बनाई गई।

----------------

-जगह-जगह पर बांटी गई खिचड़ी,पतंगबाजी का लिया गया आनंद

जागरण संवाददाता: सिलीगुड़ी : मकर सक्रांित के अवसर को लेकर घरों और मंदिरों में रौनक देखी गई। इस बार मकर संक्रांति का पालन दो दिन किया गया। शुक्रवार के बाद शनिवार को भी श्रद्धालु सुबह से ही दान-पुण्य करने में व्यस्त नजर आए। श्रद्धालुओं ने स्थानीय नदियों के तट पर डुबकी लगाई। इस अवसर को लेकर महिलाएं व्यस्त रही। खासकर मारवाड़ी समुदाय में मकर सक्रांति को लेकर कई रस्मों का पालन किया गया। जिसमें नई-नवेली दुल्हन के द्वारा मायके से आए घेवर को परिवार के बड़ों को देकर आशीर्वाद ग्रहण किया। वहीं पतंगबाजी भी खूब हुई। सुबह से छतों पर पतंग उड़ाने वाले नजर आए। जहां पर कई परिवार भी पतंगबाजी का आनंद उठाते नजर आए। इसी क्रम में मिठाई की दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ देखी। हिलकार्ट रोड, सेवक रोड, महाबीर स्थान, खालपाड़ा सहित अन्य इलाकों में खिचड़ी का वितरण किया गया। गौशाला में भी सवामनी चढ़ाई गई। श्रद्धालुओं का मानना है कि मकर सक्रांति के दिन दान-पुण्य करना शुभ माना जाता है। इसलिए वे बढ़चढ़ कर दान-पुण्य कर रहे हैं। गायों के लिए चारा की व्यवस्था की गई थी। घरों में भी खिचड़ी बनाई गई।

Edited By: Jagran