संवादसूत्र, कालिम्पोंग। गोजमुमो अध्यक्ष विनय तामांग ने जीटीए चुनाव कराने हेतु राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा है। हाल ही में हुए पहाड़ शांत रहने के कारण चुनाव कराने के लिए यह प्रस्ताव भेजा गया। विनय तामांग ने खुद ही इस बात की पुष्टि की है।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि जीटीए के चुनाव के विषय में हमने कई बार मुख्यमंत्री एवं राज्य के नेतृत्व को अवगत करा चुके है। कुछ समय पहले पहाड़ का वातावरण चुनाव कराने योग्य नहीं था। लेकिन वर्तमान में पहाड़ में शांति का माहौल है। जिस प्रकार से पहले पहाड़ का माहौल था, उसमें यह चुनाव होने लायक नहीं था।

इधर एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कालिम्पोंग में पहुंचने के बाद उन्होंने पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में जीटीए के चुनाव का प्रस्ताव ग्रहण कर सरकार के समक्ष भेजने का निर्णय लिया था।

विनय तामांग ने आगे कहा कि चुनाव कब होना है यह सरकार से जुड़ा मुद्दा है। सरकार के पास भी खुफिया विभाग होता है, सरकारी यंत्र है । उनके द्वारा कैसे रिपोर्ट दे रहे है वो उसपर निर्भर है। हम चाहते है कि जल्द चुनाव हुआ तो यहां की व्यवस्था को और सुवव्यवस्थित कर सकते है।

बता दें कि हाल ही में जीटीए चुनाव को लेकर भाजपा दार्जिलिंग जिला कमिटी के अध्यक्ष मनोज देवान का एक वक्तव्य आया था। जिसमें देवान ने विमल गुरु समुह से मिलकर भाजपा द्वारा चुनाव लड़ने की बात कही थी। इस विषय पर तामांग ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि चुनाव में कोई भी राजनीतिक दल हिस्सा ले सकता है। जो व्यक्ति पर कानुन के विभिन्न धारा, यूएपीए जैसे संगीन आरोप लगाया है उनको भाजपा द्वारा आश्रय देने की बात पर शक था, पर मनोज देवान के बयान ने इस बात की पुष्टि कर दी है।

उन्होंने कहा कि 29 व 30 अक्टूबर को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उत्तर बंगाल दौरे पर आ रही है। इस दौरान जीटीए चुनाव को लेकर मुलाकात की जाएगी, लेकिन इसे लेकर कोई आधिकारिक योजना नहीं है। वही 30 अक्टूबर को कर्सियांग के एक कार्यक्रम में मंत्री अरूप विश्वास उपस्थित रहेंगे।

Posted By: Preeti jha