-जिला अस्पताल में चार दिनों से लावारिस पड़े थे दो शव

-कोलकाता के रिश्तेदारों को सूचित भी किया गया पर वे नहीं आए जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी :

जिला अस्पताल के शव कक्ष में बीते तीन दिनों से लावारिस पड़े एक महिला सीमा चक्रवर्ती व एक पुरुष उत्तम कुमार पोद्दार के शव का बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहर के 38 नंबर वार्ड अंतर्गत सुकांत नगर निवासी नित्य मजूमदार व उनके साथियों ने इस पुण्य कार्य को अंजाम दिया। उन्होंने बताया कि सीमा चक्रवर्ती उन लोगों की पड़ोसी थीं। उनके कोई संतान न थी। पति भी बहुत पहले गुजर चुके हैं। इधर, कुछ दिनों से शारीरिक रूप से अस्वस्थ्य रहने के चलते वह जनकल्याण आश्रम के माध्यम से सिलीगुड़ी अस्पताल में भर्ती थीं। जहां, गत रविवार को उनका का निधन हो गया। इसकी सूचना जब हमें मीडिया के माध्यम से लगी कि उनका शव तीन दिनों से जिला अस्पताल में लावारिस पड़ा है तो उनके अंतिम संस्कार को हम आगे आए। इससे पूर्व बहुत खोजबीन कर कोलकाता में रहने वाले उनके कुछ रिश्तेदारों से संपर्क भी साधा लेकिन उन लोगों को सिलीगुड़ी आने से इंकार कर दिया। तब, हम लोग ही अंतिम संस्कार को आगे आए। इस दिन सीमा चक्रवर्ती का शव लेने अस्पताल पहुंचे युवाओं को पता चला कि एक और लावारिस शव अस्पताल में पड़ा है जो कि किसी उत्तम कुमार पोद्दार है तब उन लोगों ने अस्पताल प्रशासन के समक्ष आवश्यक औपचारिकताओं को पूरा कर उस शव को भी ले गए व दोनों शव का किरणचंद्र श्मशान में अंतिम संस्कार करवाया। युवाओं के इस अत्यंत मानवीय कदम की लोग प्रशंसा करते नहीं थक रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस