जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने की दिशा में काग्रेस ने सिलीगुड़ी में सात दिनों के बजाय 15 दिनों के पूर्ण लॉकडाउन की माग की है। इस संबंध में, पश्चिम बंगाल प्रदेश काग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विधायक शकर मालाकार ने कहा है कि बीती सात जुलाई को ही हमने दाíजलिंग के डीएम को पत्र लिखा था और सिलीगुड़ी में 15 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की माग की थी। मगर, तब सत्ता पक्ष की ओर से इस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। क्योंकि, विपक्ष द्वारा यह माग की गई थी। तब, सत्ता पक्ष के मंत्री ने कहा था कि विपक्ष लॉकडाउन की माग कर राजनीति कर रहा है। मगर, अब खुद सरकार ने सिलीगुड़ी में सात दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है। क्यों? क्या अब स्थिति नियंत्रण से बाहर है? यदि ऐसा है, तो, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि, अगर हमारी मागों पर ध्यान देते हुए समय पर लॉकडाउन किया जाता तो आज स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं होती। सत्तारूढ़ दल को हमेशा अपनी जिद पर अड़े नहीं रहना चाहिए। विपक्ष की बातों पर भी ध्यान देना चाहिए। विपक्ष भी जनप्रतिनिधि ही है। खैर, देर आए, दुरुस्त आए। मगर, यह सात दिनों का लॉकडाउन पर्याप्त नहीं है। इसे कम से कम 15 दिनों का किया जाना चाहिए ताकि कोरोना रोकथाम की दिशा में उठाया गया यह कदम ज्यादा प्रभावी हो।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस