जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : जिउतिया पर्व के मौके पर महिलाओं ने बुधवार निर्जला उपवास रख कर पुत्र के दीर्घायु और अखंड सुहाग की कामना की। इस पूजा को लेकर सुबह से ही घरों, मंदिरों और नदी तट पर भी विशेष चहल-पहल देखी गई। महिलाओं ने स्थानीय नदियों के तट पर व्रत की कथा को सुना। नदी में डुबकी लगा कर कथा को सुन सुख-शांति की कामना की गई। श्रद्धालु महिलाओं के द्वारा बहुत ही आस्था के साथ उपवास रख सुख शाति की कामना की। इस बारे में महिलाओं का कहना था कि ये व्रत उन्होंने अपनी संतान की लंबी उम्र के लिए रखा है। इसी क्रम में मंदिरों में भी सामूहिक कथा का आयोजन किया गया। इसी क्रम में जिउतिया पर्व आज भी मनाया जाएगा। जसकी तैयारी में महिलाएं व्यस्त नजर आई। पूजन सामग्री इत्यादि की खरीदारी की गई।

इस उपलक्ष्य में महिलाएं निर्जला उपवास रखकर पुत्र दीर्घायु और अखंड सुहाग की कामना करेंगी। प्रतिवर्ष स्थानीय महानंदा नदी तट पर महिला श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटती है। महिलाओं के द्वारा नदी तट पर डुबकी लगाई जाएगी। इसी क्रम में श्री श्री छठ पूजा सेवा समिति, लाल मोहन निरंजन घाट की ओर से नदी तट पर सेवा शिविर लगाया गया। समिति के अध्यक्ष गोपाल प्रसाद, सचिव तपन झा, कोषाध्यक्ष संजय गुप्ता ने नदी तट पर सेवा शिविर लगवाने में अहम भूमिका निभाई। घाट पर फ‌र्स्ट एड, खोया-पाया की सूचना, पेयजल इत्यादि की व्यवस्था की गई थी। मंदिरों में भी सामूहिक कथा का आयोजन किया गया। जहा पर महिलाओं के द्वारा कथा सुनी।

Edited By: Jagran