-होम आइसोलेशन के मरीजों स्वास्थ्य पर नजर रखने के लिए गठित की गई है मॉनिटरिंग सेल

- दिन में दो बार मरीजों से उनके स्वास्थ के बारे में लेनी है जानकारी

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी: सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र समेत उत्तर बंगाल में बढ़ रहे कोरोनावायरस के मामलों के बीच बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन होम आइसोलेशन में रहने को प्रोत्साहित कर रहा है। ताकि लक्षण वाले कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों को बेड मिल सके। वहीं होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों के स्वास्थ्य पर नजर रखने के लिए एक मॉनिटरिंग सेल भी गठित की गई है, जिससे कि सेल के प्रतिनिधि प्रत्येक दिन फोन के माध्यम से मरीजों को फोन कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेंगे तथा इसकी रिपोर्ट तैयार करेंगे। हालाकि देखा जा रहा है मॉनिटरिंग सेल जमीनी स्तर पर कार्य करने में विफल साबित हो रहे हैं इस तरह से देखा जाए तो होम आइसोलेशन के मरीजों को भरोसे छोड़ दिया जा रहा है। सिलीगुड़ी नगर निगम के विभिन्न क्षेत्रों में होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की शिकायत है कि उन्हें स्वास्थ्य विभाग से कोई भी सुविधा मुहैया नहीं कराई जा रही है। उनके स्वास्थ्य के बारे में भी कोई जानकारी नहीं ले रहा है। उन्हें डायट चार्ट भी मुहैया नहीं कराया गया है जिससे कि मालूम चल सके की होम आइसोलेशन के दौरान दौरान कैसे रहना है तथा क्या खाना है। यहा तक कि स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने पर उन्हें बाहर के डॉक्टरों को फोन कर चिकित्सकीय सलाह लेनी पड़ रही है। इस बारे में सिलीगुड़ी नगर निगम के आधिकारिक सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार होमा सुरेश अंदर आ रहे मरीजों के स्वास्थ्य पर नजर रखने के लिए मॉनिटरिंग सेल गठित कर दी गई है सेल के प्रतिनिधि मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ले रहे हैं कभी-कभी किसी क्षेत्र में मामले ज्यादा होने से दिन में एक बार जानकारी ली जाती है। यदि किसी दिन किसी कारण मरीज से जानकारी नहीं ली जा सकने की स्थिति में दूसरे दिन उनसे जानकारी ली जाती है। वही आपातकालीन स्थिति के लिए मरीजों को सेल का नंबर भी मुहैया कराया गया है। ताकि वह फोन कर अपनी समस्या को बता सकें। उल्लेखनीय है कि दाíजलिंग जिले के डीएम एस पन्नाबलम ने पिछले महीने 25 जुलाई को सिलीगुड़ी नगर निगम स्तरीय टास्क फोर्स की मीटिंग में कहा था कि बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेशन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। वहीं इसके लिए एक मॉनेटरिंग सेल गठित की गई है। जिसमें सेल के प्रतिनिधि दिन में दो बार मरीजों को फोन कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेंगे। स्वास्थ संबंधी किसी तरह की दिक्कत होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती करने अथवा सेफ हाउस में स्थानातरित करने की सलाह देंगे। वहीं मरीजों को भी दिन और रात के लिए अलग-अलग संपर्क नंबर दिए जाएंगे, जिससे कि आपातकालीन स्थिति में वे अपनी समस्या को बतला कर सहायता प्राप्त कर सकेंगे। मिली जानकारी के अनुसार सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र में लक्षण वाले कोरोनावायरस से संक्रमित लगभग 40 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस