कैचवर्ड शहीद दिवस

----------

सबहेड

-------

-शहीद की वेदी पर गोजमुमो, गोरामुमो और कई अन्य संगठन के नेताओं ने पहुंच कर श्रद्धांजलि अर्पित की

---------

क्रासर

----------

-कोरोना काल के चलते सादगी के साथ मनाया गया समारोह पूर्वक शहीद दिवस

-वक्ताओं ने गोरखालैंड के आंदोलन पर विस्तार से डाला प्रकाश जाटी, दार्जिलिंग : जिला मुख्यालय स्थित रंगमंच के समीप शहीद की वेदी पर माल्यार्पण कर गोजमुमो विनय पंथी नेताओं ने गोरखालैंड आंदोलन के दौरान शहीद होने वालों को नमन किया। इस मौके पर शहीद की वेदी को फूल मालाओं से बहुत ही आकर्षक तरीके से सजाया गया था। यहां गोजमुमो अध्यक्ष विनय तामांग और जीटीए अध्यक्ष अनित थापा, गोरामुमो अध्यक्ष मन घिसिंग और क्रामाकपा नेता किशोर प्रधान आदि ने शहीदों को याद करते हुए कहाकि शहीद कभी मरते नहीं है, वे तो हमेशा लोगों की दिलों में बसते रहते हैं। उनके योगदान को कभी भूलाया नहीं जा सकता है। गोरखालैंड आंदोलन के दौरान जिन लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी है वे कभी विस्मृत नहीं किए जा सकते हैं।

-------------

कíसयाग में भी मनाया गया शहीद दिवस ---

आवश्यकता पड़ने पर लॉकडाउन को बढ़ाया भी जा सकता है : अनित थापा

कíसयाग : अलग राज्य गोरखालैंड आदोलन में अपनी प्राणों की आहूति देने वाले शहीद वीर -वीरागनाओं को कíसयाग के दुíवन डाड़ा स्थित शहीद वेदी परिसर में सामान्य रूप से आयोजित शहीद दिवस कार्यक्रम के तहत श्रद्धाजलि अर्पित किया गया।

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा,कíसयाग महकमा कमेटी के तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम में जीटीए चेयरमैन अनित थापा,कíसयाग के विधायक डा. रोहित शर्मा,कíसयाग नगरपालिका अध्यक्ष कृष्ण लिम्बू,कमिश्नर सुवास प्रधान,महकमा कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष समीरदीप ब्लोन,केन्द्रीय कमेटी के सागठनिक सचिव लक्ष्मण राई,शहीद परिवार के सदस्यों,वार्ड कमिश्नरों आदि ने शहीदों का स्मरण करते हुए शहीद वेदी में श्रद्धाजलि अर्पित की। कोरोना संक्रमण के महामारी को ध्यान में रखकर इस दौरान शारीरिक दूरी का विशेष ख्याल रखने का कार्य किया गया था।

कार्यक्रम में उपस्थित जीटीए चेयरमैन अनित थापा ने कहा कि अलग राज्य गोरखालैंड आदोलन में 1986 से काफी लोग शहीद हुए। जाति के अस्तित्व के लिए संघर्ष करके शहीद होने वाले शहीदों को श्रद्धाजलि अर्पण करने की प्रथा है। शहीदों का सपना साकार करना है। उन्होंने कोरोना संक्रमण का जिक्र करते हुए कहा कि दाíजलिंग पहाड़ी क्षेत्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या में प्रत्येक दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। इसी क्रम में कल रविवार चिम्नी -देवराली समष्टि के पूर्व ग्राम पंचायत प्रधान जे. बी. मोक्तान ( 85 वर्ष)का कोरोना संक्रमित होने से निधन हो गया। स्वर्गीय जे. बी. मोक्तान को एक असल सामाजिक कार्यकर्ता का संज्ञा देते हुए उन्होंने दाíजलिंग पहाड़ी क्षेत्र से प्रथम कोरोना संक्रमित के निधन पर गहरा शोक जताया। आगामी अगस्त महीने में कोरोना की महामारी के विकराल रूप धारण करने की संभावना है। इसके संदर्भ में प्रत्येक दिन नये-नये पाठ हमें मिल रहे हैं। कोरोना संक्रमण से लोगों को एकबद्ध होकर मुक्ति दिलाने की प्रण करने का आह्वान भी उन्होंने किया। विधायक डा. रोहित शर्मा ने कहा कि गोरखाओं के इतिहास में आज के दिन को भूलाया नहीं जा सकता।शहीदों की मूल्याकन इतिहास करेगा।उन्होंने कहा कि शहीदों की बलिदान हमारे लिए चुनौती बनकर खड़ा है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस