जागरण संवददाता, कोलकाता। Intruder Arrested in Bengal. बंगाल में भारत-बांग्लादेश सीमा से अवैध घुसपैठियों की गिरफ्तारी का सिलसिला लगातार जारी है। बीते दो दिनों के अंदर बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने अवैध रूप से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर प्रवेश करने की कोशिश करने के आरोप में सीमावर्ती क्षेत्रों से 42 अवैध घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 14 घुसपैठियों को गुरुवार मध्यरात्रि में गिरफ्तार किया गया जबकि 28 घुसपैठियों को बुधवार को गिरफ्तार किया गया था।

इसके साथ विभिन्न स्थानों पर तस्करी को नाकाम करते हुए जवानों ने गुरुवार मध्यरात्रि में 2040 बोतल फेंसिडिल एवं पांच मवेशियों को भी जब्त किया। बीएसएफ की ओर से शुक्रवार को एक बयान में बताया गया कि गुरुवार मध्यरात्रि में चलाए गए अभियान के दौरान जवानों ने उत्तर 24 परगना के स्वरूपनगर थाना क्षेत्र से आठ बांग्लादेशी और दो भारतीय मूल के नागरिकों को गिरफ्तार किया, जब वे अवैध रूप से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने की कोशिश कर रहे थे।

इसके अलावा बशीरहाट एवं गायघाटा थाना क्षेत्र से दो-दो बांग्लादेशी नागरिकों को पकड़ा गया। पूछताछ में सभी घुसपैठियों ने बताया है कि वे दलालों की मदद से भारत में आए थे। बीएसएफ ने आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए सभी घुसपैठियों को संबंधित थाने को सौंप दिया है। गौरतलब है कि साउथ बंगाल फ्रंटियर के जवानों द्वारा इस साल अब तक बंगाल के सीमावर्ती जिलों से 1711 घुसपैठियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

दूसरी ओर, मालदा के बीओपी राजानगर क्षेत्र में तस्करी को नाकाम करते हुए बीएसएफ जवानों ने 1340 बोतल फेंसिडिल जब्त किया, जब इसे बांग्लादेश तस्करी किया जा रहा था। इसके अलावा अन्य स्थानों से और 700 बोतल फेंसिडिल जब्त किया।

बीएसएफ जवानों ने नदिया जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास तस्करी को किया नाकाम

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने सीमावर्ती नदिया जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तस्करी को नाकाम करते हुए 28.50 लाख की बांग्लादेशी मुद्रा (टाका) की बड़ी खेप जब्त किया है। जब्त बांग्लादेशी मुद्रा का भारतीय बाजार में मूल्य 23,94,000 रुपये है। बीएसएफ की ओर से शुक्रवार को बताया गया कि विदेशी मुद्रा की तस्करी के बारे में प्राप्त एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए कृष्णनगर सेक्टर मुख्यालय अंतर्गत बीओपी महाखोला पर तैनात 81वीं बटालियन के जवानों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास से इसे जब्त किया। हालांकि तस्कर भागने में कामयाब रहा।

अधिकारियों ने बताया कि सूचना के बाद सीमा से सटे हथखोला गांव के कब्रिस्तान के पास जवानों ने विशेष नजरदारी शुरू की। दिन में करीब 11 बजे ऑपरेशन पार्टी ने दो अज्ञात व्यक्तियों को साइकिल पर सवार होकर चापरा शहर से हथखोला गांव की ओर जाते हुए देखा। तुरंत जवानों ने उसे रोकने की कोशिश की, जिसके बाद तस्कर साइकिल व बैग को छोड़कर घने घास का फायदा उठाकर मौके से भाग निकले। इलाके की तलाशी लेने पर खेत से एक बैग और साइकिल बरामद किया गया। बैग से कुल 28,50,000 मूल्य की बांग्लादेशी मुद्रा (22 बंडल नोट) बरामद किया गया।

बीएसएफ ने आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए जब्त मुद्रा को तेहट्ट सीमा शुल्क कार्यालय को सौंप दिया। गौरतलब है कि दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने इस साल अब तक बंगाल के सीमावर्ती जिलों से 83,82,280 मूल्य की बांग्लादेशी मुद्रा जब्त करने में सफलता हासिल की है। साथ ही इस सिलसिले में सात तस्करों को गिरफ्तार किया है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप