संवाद सूत्र,बालुरघाट : कोरोना के कारण देश-दुनिया के बहुत से कार्यक्रम रद्द किये जा रहें है। इस क्रम में बालुरघाट कॉलेज में नैक का परिदर्शन भी टल गया। नैक की टीम आगामी 19 व 20 मार्च को कॉलेज में आने वाली थी। कोरोना को लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग ने विशेष कदम उठाया गया है। बालुरघाट जिला अस्पताल में 268 बेड की व्यवस्था की गई है। साथ ही चार कोरोनटाइन केंद्र बनाए गए है। फिलहाल बालुरघाट जिला अस्पताल व गंगारामपुर महकमा अस्पताल में कोरोना के लिए आइसोलेशन वार्ड को कोरानटाइन विभाग चालू किया गया है। इसे लेकर अस्पताल में विशेष व्यवस्था की गयी है। अस्पताल को साफ-सुथरा रखने का प्रयास किया जा रहा है। सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्वास्थ्य अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेसिंग की। आगामी 15 अप्रैल तक सभी आंगनबाड़ी केंद्र बंद रखने का निर्देश दिया गया है। बच्चों को एक माह की सामग्री पैकेट में बंद करके दे दी जाएगी। जिला के सरकारी कर्मचारी, अस्पताल कर्मचारी, पुलिस व सफाई कर्मचारी अपने जीवन को दांव पर लगाकर काम कर रहें है। इनके लिए पांच लाख का बीमा करने का निर्णय लिया गया है। जिला के सभी कार्यालय, कोर्ट, अस्पताल में प्रवेश व प्रस्थान करने के दौरान हैंड सेनेटाइजर को रखने के लिए आवश्यक कर दिया गया है। जिला में चार कोरोनाइन सेंटर खोला गया है। हरिरामपुर के आइटीआइ कॉलेज में अस्थायी रूप से 100 बेड की व्यवस्था की गयी है। कोरोन से संक्रमित रोगियों को यहां 14 दिन रखकर इलाज किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस