संवाद सहयोगी, बेनाचिति : दुर्गापुर शहर के धुनरा प्लाट अन्नपूर्णा नगर स्थित सावित्री नर्सिंग होम के चिकित्सक पर महिला का गलत तरीके से इलाज करने का आरोप लगा, जिससे महिला की मौत हो गई। महिला को गंभीर हालत में अन्य अस्पताल में भेजने के दौरान इलाज का कोई पेपर भी नहीं दिया गया। जिसके कारण परिवार वालों ने नर्सिंग होम के समक्ष जमकर हंगामा किया। जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन की ओर से मरीज के परिवार को मुआवजा देने का आश्वासन दिया गया।

दुर्गापुर के नईमनगर निवासी शायरा बानो को तीन दिन पहले पेट से संबंधित बीमारी के इलाज के लिए परिजनों ने सावित्री नर्सिंग होम में भर्ती करवाया था, जहां नर्सिंग होम के चिकित्सक ने उसका ऑपरेशन किया था। आरोप है कि ऑपरेशन के पश्चात महिला की हालत बिगड़ जाने के कारण आनन-फानन में नर्सिंग होम प्रबंधन ने बिना डिस्चार्ज सर्टिफिकेट दिए उसे शहर के नामी अस्पताल में रेफर कर दिया। जहां महिला की मौत हो गई। जिसकी जानकारी मिलने पर परिजनों व आसपास के इलाके के लोगों ने नर्सिंग होम के चिकित्सक पर गलत ऑपरेशन करने का आरोप लगाते हुए हंगामा मचाना शुरु कर दिया। घटना की जानकारी मिलने पर दुर्गापुर थाना की पुलिस पहुंची एवं मरीज के परिजनों को समझा कर मामला शांत करने का प्रयास किया। लेकिन परिवार वाले हंगामा करते रहे, फिर पुलिस ने उन्हें ए-जोन फाड़ी में बुलाया। परिजनों ने कहा कि नर्सिंग होम प्रबंधन की लापरवाही से ही मरीज की मौत हुई है, कहीं रेफर किया जाता है तो इलाज का कागजात दिया जाता है, वह कागजात भी नर्सिंग होम ने नहीं दिया। वार्ड पार्षद असीमा चक्रवर्ती ने कहा कि घटना की सूचना मिली थी, मामले को लेकर फाड़ी बैठक बुलाई गई थी।

Edited By: Jagran