उखड़ा : ईसीएल के बंकोला क्षेत्रांतर्गत कुमारडीही बी एबी पिट कोलियरी में ब्वायलर खराब होने से खदान में फंसे सभी 36 श्रमिकों और दो ठेकेदारों को सोमवार की रात सकुशल बाहर निकाल लिया गया। जिससे श्रमिकों ने भी राहत की सांस ली है, वहीं उनके परिवार वालों की ¨चता भी दूर हुई। दूसरी ओर मजदूर संगठनों इस घटना के लिए प्रबंधन को दोषी ठहराया है। सोमवार सुबह 10 बजे से खदान का ब्वायलर खराब हो जाने के कारण 36 श्रमिक व दो ठेकेदार खदान के अंदर ही फंस गए थे। ब्वायलर खराब होने से खदान के अंदर श्रमिकों को ले जाने एवं बाहर लाने वाली डोली ने कार्य बंद कर दिया था। जिससे श्रमिक खदान के अंदर फंसे हुए थे। प्रबंधन की ओर से ब्वायलर की मरम्मत दिन से ही शुरू हुआ एवं संध्या तक मरम्मत के पास उसे चालू किया गया। तब जाकर रात नौ बजे श्रमिकों को खदान के अंदर से बाहर निकाला गया। तब तक रस्सी के सहारे खदान में खाद्य सामग्री प्रबंधन की ओर से भेजी जा रही थी। दूसरी ओर परिवार वालों में भी ¨चता व्याप्त हो गई। श्रमिकों के बाहर आने पर वहां मौजूद मेडिकल टीम ने भी जांच की। श्रमिकों का कहना है कि सभी कोलियरी में दो ब्वायलर रहता है। एक खराब हो जाने पर दूसरे से काम किया जाता है। लेकिन यहां पर एक ब्वायलर पहले से खराब था, उसकी मरम्मत नहीं हुई थी। अब दूसरा खराब हो जाने से ऐसी समस्या हुई है।

Posted By: Jagran