संवाद सहयोगी, जामुड़िया : पश्चिम बंगाल चुनाव का परिणाम आने के बाद से ही कहीं तृणमूल कार्यकर्ताओं ने भाजपाइयों के घरों में तोड़फोड़ की थी, तो कहीं भय से ही भाजपा कार्यकर्ता घर-द्वार छोड़कर चले गए थे, अब उन लोगों को तृणमूल कांग्रेस के नेता ही घर वापसी करवा रहे हैं। पश्चिम ब‌र्द्धमान जिले के विभिन्न इलाकों के भाजपा समर्थक 150 परिवार के लोगों ने आसनसोल के शीतला इलाके के भाजपा पार्टी कार्यालय में शरण ली थी। इनमें जामुड़िया के भाजपा कार्यकर्ता रोबिन रजक भी शामिल थे। उन्होंने पंचायत के विश्वनाथ सांगुई पर अत्याचार करने का आरोप लगाया था। कई लोग घर छोड़कर फरार थे। इनसे संपर्क कर चिचुरिया के प्रधान उन्हें वापस घर लौटा रहे हैं। उनकी सुरक्षा का भी आश्वासन दिया जा रहा है।

वहीं इस मामले में चिचुरिया ग्राम पंचायत के प्रधान विश्वनाथ सांगुई ने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों को सिरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि यह बात सत्य है कि कई जगहों पर अत्याचार की खबरें सामने आई है। परंतु चिचुरिया इलाके में किसी भाजपा कर्मी पर अत्याचार नहीं किया गया है। कुछ लोग अत्याचार के डर से घर छोड़ कर भाग गए थे, उनसे संपर्क कर उन्हें वापस घर बुलाया गया। कुछ ऐसे भी लोग है जिन्हें बड़ी मुश्किल से खोज कर घर लाया गया। कहा इन तमाम लोगों के सुरक्षा की जिम्मेदारी भी हमारे ऊपर है। उन्होंने कहा हम इलाके में इस बात की जांच कर रहे हैं, ताकि कोई टीएमसी का नाम लेकर भाजपाइयों को नहीं डराए।