जागरण संवाददाता, आसनसोल : आसनसोल ईएसआइ अस्पताल प्रशासन की ओर से कोरोना की तीसरी लहर के मुकाबले के लिए हाई डिपेंडेंसी यूनिट (एचडीयू) बनाएगा। यूनिट में अत्याधुनिक मशीनरी से लैस 20 बेड लगेगे। ईएसआइ अस्पताल के अधीक्षक डा. अतनु भद्र ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए अस्पताल के रोगियों को बेहतर इलाज देने के उद्देश्य से अस्पताल में एचडीयू यूनिट बनाया जा रहा है। इस यूनिट में 20 अत्याधुनिक बेड लगाया जाएगा। जो ईसीजी, वेंटीलेटर, आक्सीजन से लैस होगा। राज्य के कुल 13 ईएसआइ अस्पताल में एचडीयू बनाया जा रहा है। उन्होंने चिता व्यक्त करते हुए कहा कि तीसरी लहर बंगाल के जलपाईगुड़ी में दस्तक दे चुकी है। इसका वायरस बहुत ही तेजगति से फैलता है। उन्होंने शहर के लोगों से आह्वान किया कि वैक्सीन लेने के बाद खुश न हो कि वे कोरोना की चपेट बच गये है। अगर सतर्क नहीं रहेंगे तो वे संक्रमित हो सकते है। अस्पताल अधीक्षक ने कहा कि होटल, माल में सेंट्रलाइज एसी लगा होता है, ऐसी स्थिति में वायरस और तीव्रता से फैलने की आशंका होती है। इससे बचाव के लिए भीड़ से बचे, हमेशा मास्क का प्रयोग करे। सरकार लोगों के बचाव के लिए निरंतर प्रयासरत है, लेकिन सतर्कता बहुत ही जरूरी है। देश के चिकित्सा विशेषज्ञों का अनुमान है कि तीसरी लहर की तीव्रता अगस्त के अंतिम माह से बढ़ने की संभावना है।

अस्पताल में चालू होगी सिटी स्कैन मशीन : अस्पताल के अधीक्षक डा. अतनु भद्र ने बताया कि रोगियों तक आक्सीजन जल्द पहुंचे व उन्हें बेहतर इलाज मिले, इसके लिए अस्पताल में सेंट्रलाइज आक्सीजन लगाने का कार्य किया जा रहा है। जिससे रोगियों के बिस्तर तक पाइप लाइन के माध्यम से आक्सीजन पहुंच सके। उन्होंने बताया कि अस्पताल में इलाजरत रोगियों को भटकना न पड़े, इसके लिए सरकार के सहयोग से नई सिटी स्कैन मशीन चालू की जाएगी। रोगियों के बेहतर इलाज के कई नए चिकित्सकों की नियुक्ति हुई है। जिनमें स्त्री रोग विशेषज्ञ, हड्डी विशेषज्ञ, सामान्य डाक्टर आदि शामिल है।

Edited By: Jagran