जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : यमुनोत्री हाईवे की स्थिति बदहाल बनी हुई है। ऑलवेदर का निर्माण पूरा न होने के कारण अभी हाईवे पर जगह-जगह गड्ढे, कीचड़ व धूल की स्थिति बनी हुई है। सबसे ज्यादा खराब स्थिति ब्रह्मखाल, पौलगांव, खरादी, कुथनौर और पालीगाड़ क्षेत्र की है, जहां स्थानीय व्यक्तियों को भी हिचकोले और धूल-कीचड़ की मार झेलनी पड़ रही है।

उत्तरकाशी जनपद में गंगोत्री हाईवे पर ऑलवेदर रोड का कार्य अभी कुछ ही स्थानों पर शुरू हुआ है। इसलिए यह यह हाईवे यमुनोत्री हाईवे की तुलना में कुछ राहत भरा है। लेकिन, गंगोत्री हाईवे पर नालूपानी और चुंगी बडेथी के अलावा मातली क्षेत्र में बदहाल स्थिति में हैं। धूप में धूल और बारिश में कीचड़ से यहां आम लोग खासा परेशान हैं, जबकि यमुनोत्री हाईवे की स्थिति और भी बदहाल है। धरासू से लेकर सिलक्यारा और जंगल चट्टी के पास सुरंग व हाईवे चौड़ीकरण का कार्य चल रहा है। इस हाईवे पर ब्रह्मखाल क्षेत्र सबसे अधिक बदहाल स्थिति में है। यहां पैदल चलने वालों को भी खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा, पौल गांव से लेकर डाबरकोट तक भी हाईवे का हाल बेहाल है। यहां कई स्थानों पर भूस्खलन जोन बने हुए हैं। इसके अलावा जगह-जगह बने गड्ढों के कारण भी आने-जाने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस