जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी: सड़क सुरक्षा को लेकर उत्तरकाशी में ‘दैनिक जागरण’ के अभियान का असर दिखने लगा है। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के कुछ स्थानों पर क्रैश बैरियर का निर्माण शुरू हो गया है, जबकि भूस्खलन प्रभावित बंदरकोट में दो सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है, जिससे यातायात सुचारू रूप से संचालित हो सके।

उत्तरकाशी जनपद में ‘दैनिक जागरण’ की ओर से 351 किलोमीटर सड़कों का निरीक्षण किया गया, जिसमें तमाम खामियां सामने आई थीं। वाहन दुर्घटनाओं का कारण चालकों की लापरवाही के साथ बदहाल सड़कें और सिस्टम भी जिम्मेदार दिखा। कहीं क्रैश बैरियर नहीं मिले, तो कहीं सड़क पर गड्ढे ही गड्ढे दिखाई दिए, तो कहीं भूस्खलन प्रभावित जोन की संकरी सड़कों पर जाम की समस्या दिखी। 

धरासू और बंदरकोट के पास यह समस्या सबसे अधिक नजर आई। इन समस्याओं को ‘दैनिक जागरण’ ने प्रमुखता से उठाया। पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी और सीओ ट्रैफिक ने इस समस्या को माना तथा शीघ्र ही भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस व होमगार्ड तैनात करने का आश्वासन दिया। 

गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब 100 मीटर लंबे बंदरकोट भूस्खलन जोन में हर समय जाम की समस्या बनी रहती थी। वाहन चालकों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। कई बार जाम के कारण वाहन चालकों के बीच विवाद की स्थिति भी बन जाती थी। 

उत्तरकाशी यातायात पुलिस की ओर से भूस्खलन जोन में यातायात सुचारू रखने के लिए दो होमगार्ड की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा बडकोट और डामटा के बीच कुछ स्थानों पर क्रैश बैरियर निर्माण भी शुरू किया गया है।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट