संवाद सूत्र, पुरोला : मोरी ब्लॉक के सांद्रा गांव में सप्ताह भर पूर्व हुई कविता की संदिग्ध हालत में मौत और बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर में जगह-जगह गंभीर चोट के निशान की बात सामने आने के बाद दोषियों को सख्त सजा देने की मांग को लेकर लोग सड़कों पर उतर गए। लोगों ने एसआइटी जांच की मांग करते हुए एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा।

सोमवार को महिला मंगल दल समूह के कार्यकर्ता और पर्वतीय जनसेवा संगठन के साथ ही स्कूली छात्रों ने नगर क्षेत्र में जुलूस-प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। गुस्साए लोगों ने मुख्य बाजार, चौराहा और तिराहों पर सांकेतिक जाम लगाकर कविता के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की। आक्रोशित लोगों ने एसआइटी जांच, घटना के समय मौजूद चालक के मजिस्ट्रेट के सामने बयान कराने और इस षडयंत्र में शामिल परिजनों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की। मांग पूरी नहीं होने पर उन्होंने शासन-प्रशासन के खिलाफ उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

इस मौके पर सोबेंद्र राणा, उमेंद्र ¨सह, प्रकाश चौहान, राजपाल ¨सह रावत, संजय राणा, चंद्री पोखरियाल, कमला देवी, मुन्नी देवी, राजेंद्र ¨सह, पवन राणा, बीना देवी, मेनका देवी, प्रतिमा देवी, सुषमा देवी, प्रवीण असवाल, शीशपाल असवाल, अश्विन, भगत ¨सह आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran