जागरण संवाददाता, रुद्रपुर: वाहन चोर गिरोह का गिरफ्तार एक सदस्य धार्मिक संगठन का युवा जिलाध्यक्ष निकला। वहअपने दोनों साथियों से चोरी के वाहन पांच हजार रुपये में खरीदकर यूपी के सीमावर्ती क्षेत्रों में 10 से 15 हजार रुपये में बेचता था। पुलिस के मुताबिक अब तक वह दो दर्जन से अधिक चोरी के मोबाइल बेच चुके हैं। संगठन की आड़ में ये नेता बाइक को सीमा से पार कराने का काम भी करता था।

शुक्रवार को पुलिस ने चोरी की 14 बाइक के साथ गूलरभोज निवासी अश्विनी दुबे और संजय सिंह को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उन्होंने अपने एक अन्य साथी रुद्रपुर, सम्पतपुर निवासी बृजेश तिवारी के बारे में जानकारी दी। इस पर पुलिस ने बृजेश को गिरफ्तार कर चोरी की पांच बाइक बरामद की। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक अश्विनी और संजय सिंह बाइक चुराते थे। इसके बाद वह चोरी की बाइक बृजेश तिवारी तक पहुंचाते थे। बाइक मिलने के बाद बृजेश ऊधमसिंहनगर के यूपी से सटे क्षेत्रों में बाइक का सौदा करता था। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक बृजेश अश्विनी और संजय से बाइक पांच से 10 हजार में खरीदता था। जिसे वह 10 से 15 हजार रुपये में बेचता था। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक बृजेश एक धार्मिक संगठन के युवा जिलाध्यक्ष भी है। अब पुलिस तीनों को रिमांड पर लेकर बेचे गए बाइकों की बरामदगी का भी प्रयास करेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस