जागरण संवाददाता,रुद्रपुर : शहर में कौशल्या इन्क्लेव निवासी प्लांट हेड दिनेश प्रजापति की शिकायत के बाद विजिलेंस टीम ने सोमवार को उनके घर पर पहुंचकर ऊर्जा निगम की टीम द्वारा उत्पीड़न के मामले की जांच की। पीड़ित ने बताया कि टीम में करीब 14 लोग शामिल थे। जिसमें थाने की पुलिस भी शामिल रही। टीम ने करीब दो घंटे तक पूछताछ की।

कौशल्या इन्क्लेव मकान नंबर 35 निवासी दिनेश प्रजापति ने एमडी पावर कारपोरेशन को शिकायत पत्र देकर एसडीओ नवोदय फीडर, लाइनमैन व जेई पर घर में घुसकर पत्नी से अभद्रता करने का आरोप लगाया था। उनके मीटर का बिल जमा होने के बाद भी टीम ने उनके घर की लाइट काट दी और मीटर को उखाड़कर ले गए। आरोप था कि पत्नी से अभद्रता भी की गई। मामले को गंभीर मानते हुए पूरे प्रकरण की जांच के लिए विजिलेंस टीम ने पीड़ित के घर पहुंचकर उसके बयान दर्ज किए। पीड़ित दिनेश प्रजापति का कहना था कि उनका 90 गज का मकान है। हर माह समय से 12 हजार रुपये तक बिजली का बिल भरते हैं। इसके बाद भी विभागीय अधिकारियों ने उनकी एक बात भी नहीं सुनी। जबकि उनकी मां काफी बूढ़ी और बीमार हैं। उनके मकान में दो एसी और पंखों सहित फ्रिज के अतिरिक्त कोई लोड नहीं है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस