Move to Jagran APP

Uttarakhand Police : 'आपका बेटा पुलिस कस्टडी में है, छुड़ाना चाहते हो तो रुपये भेजो', फर्जी कॉल को लेकर जिले की पुलिस अलर्ट

Crime News साइबर ठग आनलाइन खरीदारी नेट बैंकिंग गेम डाउनलोड फर्जी आइडी हेल्पलाइन जीवन प्रमाण पत्र केवाइसी अपडेट फेसबुक में महिला बनकर दोस्ती का प्रस्ताव देकर तथा व्हाटसएप हैक होने का झांसा देकर लोगों से ठगी कर रहे है। इस पर रोक लगाने के लिए पुलिस लोगों को जागरूक करने के साथ ही काफी हद तक अंकुश भी लगा रही है।

By virendra bhandari Edited By: Mohammed Ammar Fri, 31 May 2024 10:25 PM (IST)
Uttarakhand Police : 'आपका बेटा पुलिस कस्टडी में है, छुड़ाना चाहते हो तो रुपये भेजो', फर्जी कॉल को लेकर जिले की पुलिस अलर्ट
Uttarakhand Police : 'आपका बेटा पुलिस कस्टडी में है, छुड़ाना चाहते हो तो रुपये भेजो'

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर: हेलो, तुम्हारा बेटा पुलिस कस्टडी में है। वह गलत काम करते हुए पकड़ा गया है। उसे छुड़ाना चाहते हो तो रुपये भेज दो। नहीं तो उसे जेल भेज दिया जाएगा। कुछ इस तरह के फोन काल अगर आपके पास आ रहे हैं तो सावधान हो जाए।

ऐसी काल कर साइबर ठग जिले के लोगों को अपना शिकार बना रहे है। इस तरह की मिल रही लगातार शिकायत को देखते हुए साइबर थाना पुलिस के साथ ही जिला पुलिस सतर्क हो गई है। लोगाें को ठगों से बचाने के लिए इंटरनेट मीडिया में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। ताकि लोगों को साइबर अपराधियों से बचाया जा सके।

साइबर ठग आनलाइन खरीदारी, नेट बैंकिंग, गेम डाउनलोड, फर्जी आइडी, हेल्पलाइन, जीवन प्रमाण पत्र, केवाइसी अपडेट, फेसबुक में महिला बनकर दोस्ती का प्रस्ताव देकर तथा व्हाटसएप हैक होने का झांसा देकर लोगों से ठगी कर रहे है। इस पर रोक लगाने के लिए पुलिस लोगों को जागरूक करने के साथ ही काफी हद तक अंकुश भी लगा रही है। बावजूद इसके साइबर ठग नए नए तरीके अपनाकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे है।

वर्तमान में साइबर ठग लोगों को काल कर कह रहे हैं कि उनका बेटा या बेटी पुलिस कस्टडी में है, वह दुष्कर्म या नशीले पदार्थ तस्करी आदि अपराध करते हुए पकड़ा गया है। उसे छुड़ाना चाहते हैं तो रुपये भेज दो। इस तरह की लगातार लोगों को आ रही काल को देखते हुए साइबर थाना पुलिस के साथ ही जिला पुलिस सतर्क हो गई है।

पुलिस के अनुसार, जिले में हर माह साइबर थाना और जिला पुलिस के साथ 15 से अधिक इस तरह की शिकायत पहुंच रही है। ऐसे में लोगों को साइबर ठगी के इस नए तरीके से बचाने के लिए इंटरनेट मीडिया में जागरूकता अभियान शुरू कर दिया गया है। एसएसपी डा.मंजूनाथ टीसी ने बताया कि पुलिस साइबर ठगी के मामलों में कार्रवाई कर रही है। लोगों को इंटरनेट मीडिया के जरिए जागरूक भी किया जा रहा है।