जीवन सिंह सैनी, बाजपुर : पलायन की पीड़ा से कराह रहे पहाड़ की दशा बागवानी से सुधरेगी। तराई के किसानों की स्थिति भी बेहतर होगी। यह भरोसा उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के निदेशक हरजिदर सिंह बबेजा ने गुरुवार को दिया। जागरण से बातचीत में उन्होंने बताया कि कृषि मंत्री सुबोध उनियाल बागवानी व अन्य व्यावसायिक फसलों की ओर ध्यान दे रहे हैं। उनकी कोशिश किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की है। इसी के मद्देनजर 10 अप्रैल को कुमाऊं मंडल में उनका भ्रमण प्रस्तावित है, जिसके बाद विस्तृत कार्ययोजना तैयार की जाएगी।

हाल के वर्षो में किसानों की सोच बदली है। तराई में अमरुद की खेती बढ़ी है। लेकिन प्रोसेसिग प्लांट नहीं होने के कारण कुछ दिक्कत आ रही है। जल्द ही यह प्लांट लगवा दिया जाएगा। बबेजा ने बताया कि किसानों ने अमरुद का एक्सपोर्ट भी खुलवाने की मांग की है। इसपर विचार किया जाएगा। उन्होंने शहद उत्पादन, फिलिग गार्डन, नेचर पार्क, कोलार्ड गार्डन, नक्षत्रा गार्डन की स्थापना पर भी जोर दिया। जामुन, कटहल सहित अन्य व्यावसायिक फलों की ओर बढ़ने के संकेत दिए। पहाड़ में उत्तम प्रजाति के सेब के उत्पादन की बात कही। अमरुद में है भरपूर मुनाफा

गोविद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रोद्यौगिक विश्वविद्यालय में हार्टीकल्चर के पूर्व प्रोफेसर डा. शंतलाल अरोरा ने विचपुरी फार्म में आयोजित किसान गोष्ठी में कहा कि अमरुद की खेती भरपूर मुनाफा देती है। यह 12 में से 10 माह तक फल देता है और शुगर, बीपी के मरीजों के लिए रामबाण है।

उद्यान अधिकारी आरके सिंह की हुई सराहना

क्षेत्र में 100 से भी अधिक हेक्टेयर में बागवानी पर उद्यान विभाग की ओर से बड़े प्रोजेक्टों में अपनी सक्रिय भूमिका निभाने पर निदेशक हरजिदर सिंह बबेजा ने स्थानीय उद्यान अधिकारी आरके सिंह की सराहना की। गुरुद्वारा साहिब में की अरदास

किसानों के उत्थान की बात करने वाले हरजिदर सिंह बबेजा ने गोष्ठी से पहले संत बाबा सूरजपाल सिंह जी की कुटिया में स्थापित गुरुद्वारा साहिब में मत्था टेक अरदास की। उन्होंने गुरु साहिब से किसानों की समृद्धि की कामना की।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021