संवाद सहयोगी, खटीमा: उच्च न्यायालय के आदेश पर प्रशासन की संयुक्त टीम ने सोमवार को टनकपुर रोड पर अतिक्रमण के दायरे में आ रहे टिनशेड को जेसीबी लगाकर हटा दिया। व्यापारियों ने प्रशासन पर अतिक्रमण हटाने में पक्षपात का आरोप लगाया।

बता दें कि अधिवक्ता कविंद्र सिंह कफलिया ने उच्च न्यायालय में ऐंठा-नाले एवं टनकपुर रोड पर हुए अतिक्रमण को लेकर जनहित याचिका दायर की थी। कोर्ट ने प्रशासन को अतिक्रमण चिह्नित कर हटाने के आदेश दिए थे। प्रशासन ने पूर्व में सर्वे कर 462 कच्चे-पक्के अतिक्रमण को चिह्नित किया था। सोमवार देर शाम को एसडीएम निर्मला बिष्ट, तहसीलदार युसूफ अली, ईओ धर्मानंद शर्मा दलबल एवं जेसीबी के साथ टनकपुर रोड स्थित धार्मिक स्थल पर पहुंचे। कमेटी द्वारा बनाई गई दीवार को ध्वस्त करने के साथ दुकानों के बाहर पड़े स्लैब हटा दिए। यह देख आसपास के दुकानदारों ने भी अपने-अपने टिनशेड हटाने शुरू कर दिए। प्रशासन की टीम ने ऐंठा नाले से लगे एक खोखेको भी हटा दिया। व्यापारियों ने विधायक पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात कर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की। ईओ शर्मा ने बताया कि चिह्नित 462 अतिक्रमण में से 153 अतिक्रमण को मौके से हटा दिया गया है। शेष बचे अतिक्रमण को भी हटा दिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस