जागरण संवाददाता, काशीपुर : महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए ब्लाक में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) के तहत 10 से 15 समूह बनाने की तैयारी जोरों पर हैं। इसके लिए बांसखेड़ाखुर्द के बजाय तकनीकी कारणों से ग्रोथ सेंटर अब गांव पैगा में बनेगा। सेंटर से ही निशुल्क मत्स्य पालन के लिए बीज दिए जाएंगे। पहले बीज के लिए विकास भवन के चक्कर काटने पड़ते थे।

योजना से काशीपुर के 623 स्वयं सहायता समूहों को लाभ मिलेगा। लॉकडाउन से पहले इस योजना के तहत रिसोर्स सेंटर काम कर रहा था। पुराने तालाबों को खंगाला जा रहा था।ग्रामीण इलाकों में तालाबों को पाटकर लोगों ने अपना कब्जा जमा लिया है। ऐसे में अतिक्रमण हटाने के साथ ही नए तालाब बनाने के लिए योजना भी बनाई जा रही थी। एक दो जगह नए तालाब बनाए भी गए मगर फिर लॉकडाउन के चलते काम लटक गया।

---------------

17 तालाबों पर जोर

ग्रोथ सेंटर बनाने के बाद 17 तालाबों की मनरेगा के तहत साफ-सफाई शुरू कराई जाएगी। इसके बाद तालाब स्वयं सहायता समूहों को सौंप दिया जाएगा। एनआरएलएम के तहत कैश क्रेडिट लिमिट के तहत चक्रीय निधि से एक लाख की मदद भी आíथक निधि से मिलेगी।

----------------------- -पहले यह ग्रोथ सेंटर बांसखेड़ाखुर्द में बनने वाला था। जमीन भी तय हो गई थी लेकिन कुछ तकनीकी दिक्कतों के चलते इसका निर्माण अब पैगा में किया जा रहा है। पैगा में ही अब बहुद्देशीय बिल्डिग का निर्माण कराया जाएगा। जिसमें स्टाफ भी रखा जाएगा।

-राजीव सिंह, मैनेजर मिशन, ब्लाक काशीपुर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस