जागरण संवाददाता, सितारगंज : वीरेंद्र नगर ग्राम गोठा में बुधवार की शाम अचानक आग लग गई। घर से लपटें उठती देख लोग बुझाने के लिए दौड़ पड़े। साथ ही गांव के लक्ष्मण ने इसकी सूचना फायर ब्रिगेड को दी। एक घंटे देर से पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम आग बुझाने में जुट गई। कुछ ही देर में दमकल का पानी खत्म हो गया। फायर ब्रिगेड पानी लेने के लिए चली गई। तब तक पांचों घरों में रखा सामान स्वाहा हो गया।

वीरेंद्र नगर में विनीत, लक्ष्मण, उमाशंकर, शिव शंकर, मोतीलाल सिमेंटेड छत में अपने परिवार के साथ रहते हैं। बुधवार की शाम करीब सात बजे अचानक विनीत के घर में आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। जब तक ग्रामीण आग पर काबू पाते तब तक आग ने सभी पीड़ितों के घरों को अपनी चपेट में ले लिया। इससे घरों में रखे कागजात, कपड़े, बर्तन, नगदी, जेवर, अनाज जलकर राख हो गए। इससे लोगों को खाने के लाले पड़ गए। करीब दो लाख रुपये का नुकसान होने का अनुमान है। सूचना पर गुरुवार को तहसीलदार परमेश्वरी लाल गंगवार ने कानूनगो फूल सिंह राजस्व विभाग के टीम के साथ मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। उन्होंने पीड़ितों से मुलाकात कर प्रभावित प्रत्येक परिवार को प्राथमिक तौर पर 3800 रुपये राशि प्रदान की गई है।

.........

पड़ोसी ने बच्चों को निकाला बाहर

गोठा निवासी लक्ष्मण ने बताया कि जब पड़ोस के घर में आग लगी तो उस समय वह छत पर सोए हुए थे। आग की लपटें देख वह छत से नीचे कूदकर घर में सो रहे चार बच्चों समेत अन्य स्वजनों को बाहर निकाला। इसके बाद लक्ष्मण ने दमकल विभाग को फोन कर घटना की जानकारी दी।

.............

पड़ोसियों ने खिलाया खाना

आग लगने से सभी सामान स्वाहा हो गए। इससे लोगों के घरों में अनाज व बर्तन तक नहीं बचे। गुरुवार को जब पीड़ितों के घर चूल्हे नहीं जले तो पड़ोसियों ने खाना खिलाया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021