जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : दहेज लोभियों ने दहेज की लालसा में पेट में पल रहे अपने वारिस को ही खत्म कर दिया। पुलिस से शिकायत करने पर भी जब न्याय नहीं मिला तो पीड़िता ने एसएसपी की शरण ली। कोतवाली पुलिस ने एसएसपी के आदेश पर पति सहित 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर ली है।

दीपा पुत्री नत्थू निवासी रेशमबाड़ी रुद्रपुर ने पुलिस को दिए प्रार्थना पत्र में कहा कि उसका विवाह डेढ़ वर्ष पूर्व राजीव पुत्र बाबू राम निवासी रेशमबाड़ी के साथ हुआ था। शादी में उसकी मां द्वारा अपनी क्षमता के अनुरूप दहेज दिया, लेकिन ससुराल वाले उससे खुश नहीं हुए। वह एक लाख रुपये देने की मांग कर रहे थे। इस दौरान वह गर्भवती हो गई, लेकिन उसको प्रताड़ित करना बंद नहीं किया। एक दिन मारपीट के दौरान उसके पेट में लात मार दी, जिससे उसके बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गई। इसकी शिकायत उसके द्वारा चौकी रम्पुरा में की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उसने एसएसपी को अपनी दास्तान सुनाई। पुलिस ने पति राजीव, सास रामप्यारी, ललिता प्रसाद जेठ, हीरा लाल, राम सिंह, विमलेश जेठानी, रमा, क्रांति, संजीव देवर, वेदराम ननदोई माया ननद निवासी वार्ड नंबर चार रेशमबाड़ी रुद्रपुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। बाजपुर में युवक ने बच्ची को पीटा

बाजपुर में बच्ची से मारपीट का विरोध करने पर पड़ोसी युवक ने हमला कर दिया।

नगरपालिका के वार्ड नंबर-एक मोहल्ला बांकेनगर निवासी कुलवीर कौर ने कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि उसकी बेटी घर के नजदीक रोड पर खेल रही थी। आरोप है कि पड़ोसी युवक ने बेटी के साथ मारपीट की। विरोध पर मुझ पर भी हमला किया। यही नहीं, घर से तलवार निकालकर जान से मारने की धमकी दी।

Edited By: Jagran