जागरण संवाददाता, काशीपुर : अपने विरुद्ध दाखिल हुए वाद की पैरवी करने पहुंची महिला अधिवक्ता और उसके भाई के साथ अधिवक्ता ने साथियों के साथ मिलकर कोर्ट परिसर में ही मारपीट कर दी। साथ ही गाली-गलौज की। किसी तरह दोनों ने न्यायाधीश के चैंबर में छिपकर अपनी जान बचाई। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित अधिवक्ता के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

नादेही मिल, जसपुर निवासी मिलन रस्तोगी पुत्री प्रेम शंकर रस्तोगी ने पुलिस को दी तहरीर में कहा कि वह जिला एवं सत्र न्यायालय रुद्रपुर में अधिवक्ता है। 18 दिसंबर को वह परिवार न्यायालय में अपने विरुद्ध दाखिल वाद की पैरवी करने के लिए अधिवक्ता भाई मोहित रस्तोगी के साथ पहुंची थी। शाम करीब चार बजे पत्रावली पर कार्रवाई के बाद विपक्षी अधिवक्ता आइटीआइ थाना निवासी विरेंद्र ¨सह चौहान ने न्यायालय परिसर में ही गाली-गलौज करना शुरू कर दिया। विरोध जताने पर आरोपित ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसके व भाई के साथ मारपीट की। किसी तरह दोनों ने न्यायाधीश के चैंबर में जाकर अपनी जान बचाई। इसके बाद उन्होंने 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी। न्यायाधीश ने सचिव व अध्यक्ष के माध्यम से पीछे के रास्ते दोनों को सुरक्षित निकलवाया। आरोप है कि आरोपित साथियों के साथ न्यायालय परिसर में उन्हें साथियों के साथ मिलकर जान से मारने की फिराक में था। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित अधिवक्ता के खिलाफ मारपीट की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप