जासं, काशीपुर: टिकू की मौत के खुलासे पर उनके भाई ने सवाल उठाए हैं। टिकू के भाई राजू का कहना है कि पुलिस ने टिकू की मौत को हादसा बताया है। अगर हम मान भी लें कि हादसे में टिकू की जान गई, लेकिन फिर भी एक सवाल रह जाता है कि वह पिछले टायर के नीचे कैसे आ गया। डंपर अगर नीचे को उतर रहा है तो पहले अगला टायर आएगा न कि पिछला। अगर डंपर रिवर्स गेयर में था तो सड़क पर होना चाहिए, लेकिन वह सड़क पर नहीं है। मौके पर निरीक्षण किया जा सकता है। पिछले टायर के नीचे आने पर चालक की गलती नहीं होती है इसलिए पिछला टायर दिखाया गया है। अगर सड़क पर हादसा हुआ होता तो मेरा भाई सड़क पर होना चाहिए था, उसके चीथड़े सड़क पर होने चाहिए थे। जबकि सड़क पर चीथड़े नहीं थे। पुलिस वाले कह रहे हैं कि सीसीटीवी में हादसा दिख रहा है। डंपर के दिखने की बात कही जा रही है, लेकिन इससे स्पष्ट नहीं होता है कि वह पिछले टायर के नीचे आया है। गरीबों की कोई नहीं सुनता है। मैं यह बात पुलिस से कह भी नहीं पाया कि मेरा भाई पिछले नहीं बल्कि अगले टायर के नीचे आया है। चालक और वाहन को बचाने के लिए पिछले टायर के नीचे आने की बात कही गई है। गरीब आदमी का सहारा समाज सेवक ही हैं। समय आने पर समाज सेवकों का सहारा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हादसे की बात मानी जा सकती है, लेकिन टिकू पिछले टायर के नीचे आया ऐसा कहना बिलकुल गलत है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस