खेमराज वर्मा, काशीपुर

पावर कारपोरेशन ने नगर में प्रीपेड बिजली कनेक्शन लगाने का काम शुरू कर दिया है। यहां 102 घरेलू और कॉमर्शियल अस्थायी कनेक्शन लगाए जा चुके हैं। प्रीपेड कनेक्शन से मैनपावर के साथ ही लाइनलॉस की बचत होगी। सेंसर युक्त प्रीपेड मीटर लगने के बाद अगर कोई उपभोक्ता इससे छेड़छाड़ करेगा तो मीटर तत्काल ट्रिप हो जाएगा। इसके बाद बिजली सप्लाई भी बाधित हो जाएगी। प्रीपेड रीजार्च खत्म होने से पहले ही मीटर के जरिये उपभोक्ताओं को बैलेंस का नोटिफिकेशन भी मिल जाएगा। ताकि उपभोक्ता निगम कार्यालय से इसे फिर रीचार्ज करा सके। कम बिजली की खपत पर उपभोक्ताओं को शेष राशि वापस कर दी जाएगी। जबकि अधिक खपत पर मीटर ट्रिप कर जाएगा।

---

सिगल फेज के लिए कनेक्शन सिगल फेज के लिए पांच हजार रुपये मीटर, एक हजार प्रोसेसिग चार्ज के साथ ही जरूरत के अनुसार रीचार्ज कराना होगा। इसमें से 236 रुपये काटकर मीटर चार्ज और रीचार्ज का शेष पैसा उपभोक्ता को रिफंड कर दिया जाएगा।

---

थ्री फेज के लिए कनेक्शन

सिगल थ्री फेज के लिए 10 हजार रुपये मीटर, एक हजार प्रोसेसिग चार्ज के साथ ही जरूरत के अनुसार रीचार्ज कराना होगा। रिफंड उक्त अनुसार ही होगी। सिगल और थ्री फेज का अस्थायी कनेक्शन लेने पर यह खंभे से 40 मीटर के अंदर ही लागू होगा। इससे अधिक दूरी पर अतिरिक्त चार्ज लगेगा।

---

यह है प्रक्रिया

स्थान की रजिस्ट्री कॉपी, आधार की कॉपी और फोटो के साथ आवेदन करने पर पावर कारपोरेशन के संबंधित अधिकारियों की जांच के तत्काल बाद मीटर लगवाने का काम शुरू होगा।

---

प्रीपेड की इसलिए पड़ी जरूरत

ऊर्जा निगम के अधिकारियों के अनुसार उपभोक्ता निर्माण के नाम पर कम क्षमता में कनेक्शन लेकर अधिक बिजली की खपत करते थे। इससे बिजली कटौती और फ्लक्चुएशन की समस्या सामने आ रही थी, जो अब नहीं होगा।

---

सबको मिलेगी भरपूर बिजली

प्रीपेड अस्थायी बिजली कनेक्शन लगने से बिजली चोरी पर अंकुश लगेगा तो ऊर्जा निगम के अधिकारी-कर्मचारियों को जहां राहत मिलेगी, वहीं उपभोक्ताओं को भी भरपूर बिजली मिलेगी।

--------------------

काशीपुर पावर कारपोरेशन पर एक नजर

कुल उपभोक्ता-68 हजार

-----------

एसडीओ -दो

जेई -छह

लाइनमैन-43

-----------

प्रति माह रिबेन्यू-लगभग 40 करोड़

-------------

काशीपुर में पावर हाउस

11 केवी की संख्या-2617

33 केवी की संख्या =09

220 केवी की संख्या-01

400 केवी की संख्या: 01

---

वर्जन

काशीपुर में अभी तक 102 अस्थायी प्रीपेड मीटर लगाए जा चुके हैं। इससे मैनपावर के साथ ही लाइनलॉस की बचत होगी। सेंसर युक्त प्रीपेड मीटर से कोई भी छेड़खानी करेगा तो तत्काल सप्लाई बंद हो जाएगी।

- अनिल वर्मा, अधिशासी अभियंता, विद्युत वितरण खंड-काशीपुर

Edited By: Jagran