जासं, काशीपुर : पहले से ही घाटे में चल रहे परिवहन निगम में डीजल चोरी का नया मामला सामने आया है। अलबत्ता विभागीय अधिकारी मामला संज्ञान में आने पर कार्रवाई की बात कह रहे हैं। वहीं रोडवेज सूत्रों का कहना है कि आरोपित चालक को समझौते के बाद छोड़ दिया गया है।

उत्तराखंड परिवहन निगम मुख्यालय के निर्देश पर कोरोना संक्रमण के चलते मई से बसों का संचालन मंडल परिक्षेत्र में ही किया जा रहा है। इसके चलते कुमाऊं मंडल की बसें जसपुर के धर्मपुर बॉर्डर पर नाइट स्टे करती हैं। सुबह सवारियां लेकर वहां से अपने गंतव्य को निकलती हैं। बताया गया कि इस बीच काठगोदाम डिपो में तैनात एक चालक को रात में बस से डीजल चोरी करते रंगेहाथ दबोच लिया गया। अन्य बस चालक उसे काशीपुर डिपो ले गए, जहां से काठगोदाम मंडल के आरएम यशपाल को मामले की जानकारी दी गई। उधर, सूत्रों ने बताया यहां पर अन्य कर्मियों ने समझौता करा दिया। लंबे समय से चल रहे इस खेल के तहत 10-10 लीटर तक डीजल चोरी कर एक अन्य वाहन में रखे ड्रम में स्टोर कर परिवहन किया जाता रहा है। उधर, सहायक महाप्रबंधक रमेश पांडे ने बताया कि डीजल चोरी होने वाली बस का चालक काठगोदाम डिपो के एक बस चालक को पकड़कर लाया था। मामले की रिपोर्ट बनाकर काठगोदाम डिपो भेज दी गई है। आगे की कार्रवाई काठगोदाम डिपो के एआरएम करेंगे। वहीं, कुमाऊं मंडल के क्षेत्रीय प्रबंधक यशपाल ने बताया कि मामला पूरी तरह से संज्ञान में आने पर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बावजूद इसके स्थानीय अधिकारियों को मामले की जांच के लिए कहा गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप