Move to Jagran APP

जिला पंचायत सदस्य ने पंचायती राज विभाग के सचिव को पत्र भेज कर अध्यक्ष को हटाने की मांग

जिला पंचायत सदस्य सिंह का आरोप है कि उनके जिला पंचायत क्षेत्र खेमपुर में विकास कार्यों को प्रभावित करने के लिए बजट का सही तरीके से आवंटन नहीं किया गया। सुमन सिंह ने कहा कि उत्तराखंड पंचायती राज अधिनियम की धारा 138 उप धारा (घ) के खंड (i) के अनुसार निर्धारित दायित्वों का निर्वहन करने में असफल रहने पर जिला पंचायत अध्यक्ष को पद से हटाया जाना न्यायोचित है।

By lalit pandey Edited By: Mohammed Ammar Thu, 13 Jun 2024 10:59 PM (IST)
जिला पंचायत सदस्य ने पंचायती राज विभाग के सचिव को पत्र भेज कर अध्यक्ष को हटाने की मांग

जागरण संवाददाता, गदरपुर : जिला पंचायत सदस्य ने पंचायती राज विभाग के सचिव को पत्र भेजकर जिला पंचायत अध्यक्ष को पद से हटाए जाने की मांग की है।

ग्राम खेमपुर स्थित अपने आवास पर प्रेस वार्ता करते हुए खेमपुर की जिला पंचायत सदस्य सुमन सिंह ने कहा की उन्होंने पंचायती राज विभाग के सचिव को भेजे गए पत्र में जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार पर अपने अध्यक्ष पद के दायित्व और कर्तव्यों का जानबूझकर निर्वहन न करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उन्होंने केंद्र एवं प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में लापरवाही दिखाई और अपने हित लाभ के चलते राजनीतिक संगठनों से गठजोड़ कर सरकारी धन का दुरुपयोग किया गया है।

जिला पंचायत सदस्य सिंह का आरोप है कि उनके जिला पंचायत क्षेत्र खेमपुर में विकास कार्यों को प्रभावित करने के लिए बजट का सही तरीके से आवंटन नहीं किया गया। सुमन सिंह ने कहा कि उत्तराखंड पंचायती राज अधिनियम की धारा 138 उप धारा (घ) के खंड (i) के अनुसार निर्धारित दायित्वों का निर्वहन करने में असफल रहने पर जिला पंचायत अध्यक्ष को पद से हटाया जाना न्यायोचित है। इससे पूर्व सुमन सिंह ने जिला पंचायत अध्यक्ष पर वित्तीय अनियमितता और वर्क आर्डर जारी न करने का आरोप लगाकर राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग को भी शिकायती पत्र भेज चुकी हैं।