जागरण संवाददाता, सितारगंज : पेट्रोल-डीजल, गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर काग्रेस के भारत बंद का असर यहां बेअसर रहा। व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह से खुले रहे। लेकिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने तांगे पर मोटर साइकिल व गैस सिलेंडर रख कर जुलूस निकाला। मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ ही मूल्य वृद्घि तत्काल वापस लेने की मांग की।

ब्लॉक अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता मुख्य चौक पर एकत्र हुए। वहा पर तांगे पर गैस सिलेंडर व बाइक रखकर जुलूस निकाला। केंद्र सरकार के विरोध में नारेबाजी के साथ जुलूस शहर के विभिन्न मार्गो पर निकला। खटीमा चौराहे पर पेट्रोल-डीजल व गैस की बढ़ती हुई कीमतों को लेकर केंद्र सरकार को जमकर कोसा। कहा कि प्रधानमंत्री ने सबको छला है। महंगाई चरम सीमा पर पहुंच गई है, जिससे जनमानस परेशान है। जनता इसका जवाब आने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ कर देगी। प्रदर्शन में निवर्तमान पालिका चेयरमैन कांता प्रसाद सागर, मंडी चेयरमैन हरपाल सिंह, करन जंग, यूसुफ मलिक, मलकीत सिंह, चंद्र सेन श्रीवास्तव,सरताज अहमद, वसीम मिंया, आजम मलिक, मुगनी अहमद, मुख्तार अंसारी, अखिलेश सिंह, अकरम बेग, पार्वती कपिल, जगदीश राणा, डा.ॅ अवतार सिंह, साहब सिंह, जगदीश महर, डीके जोशी आदि शामिल थे।

शक्तिफार्म : काग्रेसी नगर के सुभाष चौक पर एकत्र हुए । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुतले के साथ नगर के मुख्य मार्ग में प्रदर्शन किया। इस दौरान पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाओ, वैट घटाओ आदि नारे लगाए। बाद में मुख्य बाजार में पीएम के पुतले को आग हवाले कर दिया। काग्रेस के भारत बंद का आह्वान यहा बेअसर रहा। बाजार खुला रहा। प्रदर्शन में दीपक विश्वास, देबू मंडल, प्रशांत मंडल, मालती विश्वास, तारक मंडल, भावतोष आचार्य, कृष्णपद मंडल, आन सिंह रावत हिरनी वाला आदि शामिल थे ।

Posted By: Jagran