संवाद सहयोगी, खटीमा : सीमा सील होने के बाद भी लोग राज्य में प्रवेश करने से नहीं चूक रहे हैं। इस बीच देश के विभिन्न शहरों से खटीमा में दाखिल होने का प्रयास कर रहे 50 लोगों को क्वारंटाइन टीम ने रोक लिया। यह सभी गोपनीय रास्तों से आ रहे थे। बाद में क्वारंटाइन टीम ने इनका मेडिकल चेकअप कराया। साथ ही उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन सेंटर रुद्रपुर भेज दिया।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन ने नानकमत्ता, खटीमा व झनकईया थाने के अंर्तगत एक क्वारंटाइन टीम का गठन किया गया है। यह टीम गांवों व गोपनीय रास्तों के जरिए दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को पकड़कर उन्हें रिलिफ व क्वारंटाइन वार्ड में भेजने का काम कर रही है। इस बीच क्वारंटाइन टीम प्रभारी अरविंद बहुगुणा को सूचना मिली कि कुछ लोग पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश से गोपनीय रास्तों के माध्यम से खटीमा में प्रवेश करने जा रहे है। यह सभी देश के विभिन्न राज्यों से आए हुए है। जो चंपावत, खटीमा, पिथौरागढ़ व टनकपुर जाना चाहते हैं। बहुगुणा ने बताया कि इन लोगों को टीम के साथ सभी को मझोला क्षेत्र में रोक लिया। जिनका मौके पर ही स्वास्थ्य विभाग की टीम के स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। बाद में इन सभी को बसों बैठाकर 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन सेंटर रुद्रपुर भेज दिया गया। बहुगुणा ने बताया कि जनजाति छात्रावास में क्वारंटाइन किए गए लोगों में से 55 लोगों को भी रुद्रपुर भेजा गया है। राजकीय जनजाति छात्रावास के क्वारंटाइन वार्ड में 41 लोग रह गए है। टीम में अनवरी अली, प्रदीप कुमार, अमित भट्ट, जयपाल आदि मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप