Move to Jagran APP

Weather Update: देवभूमि में शिखर पर पारा, पहाड़ को भी पंखों का सहारा... हर दिन बिक रहे 20 से 25

Weather Update मैदानी क्षेत्रों में गर्मी का प्रभाव बढ़ते ही लोग पहाड़ों का रुख करने लगते हैं। अब पहाड़ों पर भी गर्मी की मार पड़ रही है। नई टिहरी की सबसे ऊंची चोटी पिकनिक स्पाट की ऊंचाई लगभग 6000 फीट है। पिछले वर्ष जून में अधिकतम तापमान जहां 28 डिग्री सेल्सियस तक गया वहीं इस बार यह 32 डिग्री पार कर चुका है।

By Anurag uniyal Edited By: Nirmala Bohra Wed, 19 Jun 2024 10:07 AM (IST)
Weather Update: पहाड़ों पर भी गर्मी की मार

अनुराग उनियाल, जागरण नई टिहरी: Weather Update: मैदानी क्षेत्रों में गर्मी का प्रभाव बढ़ते ही लोग पहाड़ों का रुख करने लगते हैं। वजह यह कि मैदानों में जब गर्मी झुलसाने लगती है, पर्वतीय क्षेत्रों में तब भी ठंडक रहती है। लेकिन, पिछले कुछ वर्षों में इसमें बदलाव देखने को मिला है।

अब पहाड़ों पर भी गर्मी की मार पड़ रही है। इस बार समुद्रतल से 5,800 फीट की ऊंचाई पर बसे वाटर स्पोर्ट्स हब नई टिहरी में भी गर्मी ने लोगों को पंखे चलाने के लिए मजबूर कर दिया है। मौसम के इस बदले मिजाज से विशेषज्ञ भी चिंतित हैं।

इस बार 32 डिग्री पार कर चुका है पारा

नई टिहरी की सबसे ऊंची चोटी पिकनिक स्पाट की ऊंचाई लगभग 6,000 फीट है। आमतौर पर यहां दिसंबर से लेकर मार्च तक कड़ाके की ठंड पड़ती है। शेष आठ महीनों में मौसम सुहावना रहता है। बात ग्रीष्मकाल की करें तो पिछले वर्ष जून में अधिकतम तापमान जहां 28 डिग्री सेल्सियस तक गया, वहीं इस बार यह 32 डिग्री पार कर चुका है। घाटी वाले क्षेत्रों में तापमान इससे भी ज्यादा है।

ऐसे में लोगों को राहत के लिए पंखे का सहारा लेना पड़ रहा है। जिन घरों में पंखे नहीं लगे थे, वहां भी पंखे लगवाए जा रहे हैं। इससे पंखों की मांग बढ़ गई है। शहर के दुकानदारों का कहना है कि पहली बार पंखों की इतनी मांग आ रही है। विद्युत उपकरण विक्रेता रावत इंटरप्राइजेट के स्वामी यशपाल रावत ने बताया कि हर दिन 20 से 25 पंखे बिक रहे हैं।

गर्मियों में भी रहती थी ठंडक, नहीं छोड़े जाते थे पंखों के लिए हुक

इतिहासकार एवं स्थानीय निवासी महिपाल नेगी बताते हैं कि नई टिहरी में जितनी भी सरकारी कालोनी बनी हैं, उनमें पंखे के हुक नहीं छोड़े गए थे, क्योंकि जब ये बने तब यहां पर गर्मी होती ही नहीं थी।

पिछले कुछ वर्षों में नई टिहरी में तेजी से भवन निर्माण हुए हैं, जिस कारण गर्मी महसूस होने लगी है। बांज और देवदार के पौधारोपण की जरूरत है, तभी शहर का पुराना स्वरूप बच पाएगा।

वर्ष 2023 और 2024 में जून के तापमान में अंतर

  • तिथि, वर्ष 2024, वर्ष 2023
  • 11 जून, 31.5, 27.4
  • 12 जून, 31.5, 27.1
  • 13 जून, 31.6, 28.0
  • 14 जून, 31.6, 27.6
  • 15 जून, 31.2, 26.9
  • 16 जून, 32.2, 27.1
  • 17 जून, 31.4, 28.9
  • 18 जून, 30.9, 23.7
  • (नोट- तापमान डिग्री सेल्सियस में है।)