जागरण संवाददाता, नई टिहरी: प्रतापनगर ब्लाक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चौंड़ में महिला का प्रसव मोबाइल फोन की रोशनी में कराने के मामले में सीएमओ डा. संजय जैन ने चिकित्साधिकारीडा. आकाशदीप से स्पष्टीकरण तलब किया है। सीएमओ ने पूछा है कि जब अस्पताल में जेनरेटर था, तो उसमें डीजल क्यों नहीं भराया गया। तीन दिन में संतोषजनक जवाब न मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

चौंड़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 13 सितंबर की शाम को अस्पताल में एक महिला को उसके स्वजन प्रसव के लिए लाए थे। महिला के प्रसव के दौरान ही अस्पताल की लाइट चली गई और अस्पताल में रखे जेनरेटर में डीजल न होने के कारण वह नहीं चल सका। इसके बाद मोबाइल फोन की फ्लैश लाइट की मदद से महिला का प्रसव कराया गया। इस मामले में ब्लॉक प्रमुख प्रदीप रमोला और अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली को लेकर विरोध किया। ब्लाक प्रमुख प्रदीप रमोला ने सीएमओ को पत्र भेजकर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने की बात कही थी। बुधवार को सीएमओ डा. संजय जैन ने बताया कि जब अस्पताल में जेनरेटर था तो उसमें डीजल होना चाहिए था लेकिन उसमें डीजल नहीं था। इस संबंध में चिकित्साधिकारी डा. आकाशदीप से स्पष्टीकरण मांगा गया है कि अस्पताल में डीजल की व्यवस्था क्यों नहीं गई । हालांकि अब अस्पताल में डीजल और इनवर्टर उपलब्ध करा दिया गया है।

-------------

प्रतापनगर क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं का बहुत बुरा हाल है। मरीजों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता। सरकार को प्रतापनगर के लिए स्वास्थ्य सेवाओं में अतिरिक्त प्रयास करने चाहिए।

प्रदीप रमोला, ब्लाक प्रमुख , प्रतापनगर

Edited By: Jagran