जागरण संवाददाता, नई टिहरी: आलवेदर रोड की चंबा में बनी भूमिगत सुरंग के पास गंगोत्री राजमार्ग धसने से गुल्डी गांव के 12 परिवारों को खतरा हो गया है। जल्द ही यहां पर सुरक्षा प्रबंध नहीं किए गए तो तेज बरसात में बड़ा हादसा हो सकता है।

चंबा में आलवेदर रोड की भूमिगत सुरंग के पास ऋषिकेश- गंगोत्री राजमार्ग का करीब दो सौ मीटर हिस्सा पिछले सप्ताह टूट गया था। सड़क धसने से गुल्डी गांव के लगभग 12 मकानों को इससे खतरा बना है। सड़क के ठीक ऊपर यह मकान सड़क बनने से पहले ही बने थ, लेकिन अब जमीन धसने से तेज बरसात में मकान भी धस सकते हैं। बीती 18 जून को तेज बारिश में सड़क धसने के बाद जिला पंचायत सदस्य यलमा सजवाण और स्थानीय ग्रामीणों ने प्रशासन को पत्र लिखा था, लेकिन उसके बाद भी अभी तक यहां सुरक्षा प्रबंध नहीं हुआ है। सड़क धसने से कुंवर सिंह, बलबीर सिंह, सोहनवीर, विनय लाल आदि के मकानों को खतरा बना है। गुल्डी के प्रधान परमजीत सिंह सजवाण ने बताया कि प्रशासन को सूचना देने के बाद भी कोई सुरक्षा प्रबंध अभी तक नहीं किए गए हैं। रात को मकानों में रहने वाले सभी लोग डर के साये में गुजार रहे हैं। आलवेदर रोड पर अभी आवाजाही भी शुरू नहीं हुई है और सुरक्षा दीवार व सड़क धसने लगी है। निर्माण कार्य की उच्च स्तरीय जांच की जानी चाहिए। इस मामले में एसडीएम रविद्र जुवांठा ने बताया कि बीआरओ के अधिकारियों को वहां पर दीवार बनाने के निर्देश दिए गए हैं।

Edited By: Jagran