संवाद सूत्र, गुप्तकाशी: संतानदायिनी माता अनसूया की देवरा डोली यात्रा केदारनाथ के दर्शन के बाद अब बद्रीनाथ धाम के दर्शनों के लिए रवाना हो गई है। रविवार को मां अनसूया बद्रीनाथ धाम पहुंचेगी। इससे पूर्व गुप्तकाशी में भक्तों ने देवी के दर्शन कर आशीर्वाद लिया। इस दौरान भक्तों के जयकारों से क्षेत्र का पूरा वातावरण भक्तिमय हो उठा।

विगत आठ अक्टूबर को गोपेश्वर से माता अनसूया की देवरा यात्रा का शुभारंभ हुआ था। जिसके बाद शुक्रवार को केदारनाथ में पूजा अर्चना व दर्शन करने के बाद रात्रि प्रवास के लिए मां की डोली अपनी धियाण सीमा असवाल के घर गुप्तकाशी पहुंची थी। शनिवार को सुबह आठ बजे पुजारी विनोद सेमवाल ने मां अनसूया की विशेष पूजा अर्चना कर भोग लगाया। इस दौरान आसपास के लोगों ने मां अनसूया के दर्शन कर आशीर्वाद लिया। जैसे ही देवरा यात्रा अपने अगले पड़ाव के लिए रवाना हुई, वैसे ही मां के जयकारों से क्षेत्र का पूरा वातावरण भक्तिमय हो उठा। इस दौरान मां अनसूया की डोली ने गुप्तकाशी व ऊखीमठ में भक्तों को दर्शन देकर आशीर्वाद दिया। वहीं भक्तों ने भी मां का धूप, दीप, फूल व अक्षत से जोरदार स्वागत किया। शनिवार रात्रि प्रवास के लिए मां की डोली मंडल गांव पहुंच गई है। रविवार को देवरा यात्रा मंडल से प्रस्थान कर बद्रीनाथ धाम पहुंचेगी। जहां नारायण भगवान के दर्शन व पूजा अर्चना की जाएगी। देव डोली के साथ सेमवाल पुजारी पंचायत के अध्यक्ष बल्लभ प्रसाद सेमवाल, तीर्थ पुरोहित बलराम तिवारी, विनोद सेमवाल, नवीन, प्रवीण, पंकज समेत बड़ी संख्या में भक्तजन देवरा यात्रा में चल रहे है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस