संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: जिले के ऊखीमठ विकास खंड के सांसद आदर्श गांव को जाने वाली सड़क एक माह से बंद पड़ी है। सड़क बंद होने से गांव में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति ठप पड़ी है, ग्रामीण जैसे तैसे पीठ पर लादकर जरूरी सामान अपने घर ले जा रहे हैं। गांव में कुल 300 परिवार निवास करते हैं।

गढ़वाल सांसद भुवन चंद्र खंडूड़ी ने सांसद बनने के बाद तीन जनपदों पौड़ी, चमोली व रुद्रपयाग की सबसे ज्यादा प्रभावित ऊखीमठ ब्लाक के गांव देवली भणीग्राम को गोद लिया था। इस गांव में केदारनाथ त्रासदी के दौरान 63 परिवारों के घरों के चिराग बुझ गए थे। गांव के केदारनाथ यात्रा से जुड़े परिवार बेरोजगार हो गए थे। आपदा में अपनों को खोने के साथ ही इस गांव के लोगों का रोजगार छिन गया था, जिसके बाद ही उस समय नवनिर्वाचित होकर आए सांसद भुवन चंद्र खंडूड़ी ने इस गांव को गोद लेकर मुख्य धारा में लाने का प्लान तैयार किया। गांव में उम्मीद जागी थी कि अब गांव में सभी बुनियादी सुविधाएं बहाल हो सकेंगी, लेकिन आदर्श गांव की स्थिति दयनीय बनी है। गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने वाला वाला मार्ग लमगौडी-देवलीभणी पिछले एक माह से बंद पड़ा है। आदर्श ग्राम जाने के लिए तीन किलोमीटर तक ग्रामीण पैदल जाकर सड़क तक पहुंच रहे हैं। विभाग को कई बार सूचित करने के बाद भी मार्ग नहीं खोला गया है। गांव में तीन सौ परिवार निवास करते हैं।

प्रधान हरि प्रकाश बगवाड़ी का कहना है कि मोटर मार्ग बंद हुए एक माह होने को है, लेकिन अभी तक मार्ग आवाजाही के लिए नहीं खुल पाया है, जिससे पूरे गांव वालों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। दैनिक उपयोग की खाद्य सामग्री को लाने के लिए ग्रामीणों को पैदल जाना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी बीमार व्यक्ति को लाने ले जाने में हो रही है। सड़क बंद होने से गांव में रसोई गैस भी नहीं पहुंच पा रही है।

पूर्व जिला पंचायत सदस्य केशव तिवारी ने भी सांसद आदर्श गांव में एक माह से बंद सड़क न खोले जाने को सरकार की घोर लापरवाही बताया। कहा कि आदर्श गांव होने के बावजूद सरकार की इस गांव के प्रति बेरुखी दर्शाती है कि सरकार सांसद आदर्श गांव के प्रति कितनी सजग है। गांव के ही क्षेत्र पंचायत सदस्य गणेश तिवारी का कहना है कि यह गांव आपदा से सबसे ज्यादा प्रभावित था, इसलिए इस गांव का चयन आदर्श ग्राम के रूप में किया गया था, लेकिन सरकारी की बेरुखी से ग्रामीण बुनियादी सुविधाओं से जूझ रहे हैं।

पीएमजीएसवाइ के अवर अभियंता पंकज बिष्ट ने बताया यहां पर लगातार स्लाइडिंग हो रहा है, जिस कारण मार्ग को खोलने में दिक्कत आ रही है। जेसीबी मशीन ने पिछले 15 दिनों तक यहां पर कार्य किया, लेकिन इसके बाद भी मलबा लगातार पहाड़ी से आ रहा है। पानी भी इस स्थान पर आ रहा है। उम्मीद है कि मौसम ठीक होने पर मार्ग को जल्द खोल दिया जाएगा।

Posted By: Jagran