Move to Jagran APP

Kedarnath Yatra 2024: नया इतिहास रचने की राह पर केदारनाथ यात्रा, 33 दिन में 8 लाख से अधिक दर्शनार्थी पहुंचे बाबा के दर

Kedarnath Yatra गत 10 मई को करोड़ों हिन्दुओं की आस्था के केन्द्र भगवान केदारनाथ मंदिर के कपाट आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोले गए थे। यात्रा के शुरूआत से ही केदारनाथ धाम में भक्तों का हुजूम उमड़ना शुरू हो गया था। वहीं एक दिन में इस वर्ष सबसे ज्यादा यात्रियों का रिकॉर्ड गत 21 मई को बना है। इस दिन कुल 38682 यात्रियों ने बाबा केदार के दर पर मत्था...

By Brijesh bhatt Edited By: Riya Pandey Published: Tue, 11 Jun 2024 08:34 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 08:34 PM (IST)
नया इतिहास रचने की राह पर केदारनाथ यात्रा

संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग। Kedarnath Yatra: चारधाम में शामिल केदारनाथ धाम की यात्रा इस बार नया इतिहास लिखेगी। यात्रा के शुरूआत से जिस तरह देश-विदेश से आने वाले भक्तों का रैला उमड़ रहा है। यात्रा के मात्र 33 दिन में ही 8 लाख से अधिक यात्री भोले बाबा के दर्शन कर चुके है।

अगर इसी तरह यात्रियों की संख्या बढ़ोत्तरी हो रही, तो विगत वर्ष दर्शनों के सभी रिकॉर्ड भी टूट जाएंगे। यात्रियों की संख्या बढ़ने ने जहां तीर्थाटन व पर्यटन को बढ़ावा मिल रहा है, वहीं बदरी-केदार मंदिर समिति की आय में भी काफी इजाफा हो रहा है। अब तक चारों धामों में 2070882 यात्री दर्शन कर चुके है।

21 मई को बना सबसे अधिक यात्रियों का रिकॉर्ड

गत 10 मई को करोड़ों हिन्दुओं की आस्था के केन्द्र भगवान केदारनाथ मंदिर के कपाट आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोले गए थे। यात्रा के शुरूआत से ही केदारनाथ धाम में भक्तों का हुजूम उमड़ना शुरू हो गया था। वहीं एक दिन में इस वर्ष सबसे ज्यादा यात्रियों का रिकॉर्ड गत 21 मई को बना है।

इस दिन कुल 38682 यात्रियों ने बाबा केदार के दर पर मत्था टेका है। हालांकि यात्रियों की संख्या में इजाफा होने से शासन-प्रशासन के सामने कई चुनौतियां खड़ी हुई, लेकिन बाद में धीरे-धीरे व्यवस्थाएं पटरी पर आने लगी।

यात्रा में इजाफा देखते हुए बदरी-केदार मंदिर समिति व प्रशासन ने केदारनाथ मंदिर में प्रतिदिन दर्शन का समय भी बढ़ाया। जिससे अधिक से अधिक यात्री दर्शन कर वापस लौट सके। भक्तों में भोले बाबा के प्रति इतनी आस्था है कि वह धूप व बारिश में भी दो से तीन किमी लंबी लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे है।

प्रतिदिन 20 हजार यात्री पहुंच रहे बाबा के दर

वर्तमान में प्रतिदिन औसतन 20 हजार यात्री भोले बाबा के दर पर पहुंच रहे है। यात्रा में यात्री पैदल, घोडे-खच्चर, डंडी कंडी, हवाई सेवा से पहुंच कर अपने धन्य समझ रहे है। यही वजह है कि यात्रा के मात्र 33 दिन में यात्रियों के दर्शनों का आंकडा 8 लाख के पार पहुंच चुका है।

इस बार केदारनाथ यात्रा नया कीर्तिमान स्थापित करती आ रही है। वहीं वर्ष 2023 में पूरे सीजन में 19.55 लाख से अधिक यात्री केदारनाथ दर्शनों को पहुंचे थे। इस वर्ष यह आंकडा 20 से 25 लाख के बीच रहने की उम्मीद है।

वहीं चारधाम की बात करें गंगोत्री में 374946, यमनोत्री में 374017, बद्रीनाथ धाम में 517680 यात्री दर्शन कर चुके है। वहीं केदारनाथ धाम सबसे अधिक 804239 यात्री दर्शन कर चुके है। चारधाम में केदारनाथ दर्शनों में सबसे टाप भी चल रहा है।

इस बार नया इतिहास लिखने की राह में केदारनाथ यात्रा

इस वर्ष केदारनाथ में भक्तों का हुजूम उमड़ने से विगत वर्षों के सभी रिकॉर्ड भी ध्वस्त हो जाएंगे। इस बार केदारनाथ यात्रा नया इतिहास लिखने की ओर कदम बढ़ा रही है।

देश-विदेश के यात्री बाबा के दर्शनों के साथ ही नई केदारपुरी के स्वरूप को निहारने के लिए भी बड़ी संख्या में केदारनाथ पहुंच रहे है। यात्रा की रफ्तार बढ़ने से पर्यटन व्यवसायियों के साथ ही हेलीकाप्टर सेवा, घोड़े- खच्चर, डंडी-कंडी, पालकी संचालकों ने अच्छा कारोबार होने की उम्मीद है।

पिछले छह वर्षो में यात्रियों का आंकड़ा

वर्ष  यात्रियों की संख्या
2024  804239 (11 जून तक )
2023  1955412
2022  1563278
2021  242712
2020  135287
2019 1000021

बदरी-केदार मंदिर समिति केदारनाथ वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी युद्धवीर पुष्पवान के अनुसार, केदरनाथ में दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। प्रतिदिन औसतन 20 हजार यात्री भोले बाबा के दर्शनों को पहुंच रहे है। मात्र 33 दिन में यात्रियों का आंकडा 8 लाख के पार पहुंच चुका है। इस वर्ष की केदारनाथ यात्रा बदरी-केदर मंदिर समिति के साथ ही पर्यटन से जुडे व्यवसायियों के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो रही है।

यह भी पढ़ें- Kedarnath में मांस लेकर पहुंचा व्‍यक्‍ति, मच गया बवाल... युवक गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.