संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: जिला पंचायत की बैठक में जिला पंचायत सदस्यों ने अपने क्षेत्र से जुड़ी बुनियादी समस्याएं सदन के सम्मुख रखी। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष ने अधिकारियों से प्राथमिकता के आधार पर शिकायतों का निस्तारण करने को कहा। वहीं डीएम मनुज गोयल ने अधिकारियों से बैठक में पूरी तैयारी के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए।

जिला कार्यालय सभागार में जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह की अध्यक्षता में हुई बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पेयजल, बिजली आदि से संबंधित समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। जिला पंचायत अध्यक्ष ने सदन में उपस्थित सदस्यों की रखी गई समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निराकरण करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष ने जलागम से कराए जा रहे कार्यों की जांच कराने के लिए मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए।

बैठक में जिलाधिकारी मनुज गोयल ने जनपद स्तरीय अधिकारियों को पूरी तैयारी के साथ उपस्थित रहने के निर्देश दिए। जिला पंचायत सदस्यों से बैठक पूर्व ही उनके क्षेत्र की शिकायतों को संबंधित विभाग को लिखित रूप से अवगत कराने की अपील की, ताकि विभागीय अधिकारी बैठक के दौरान उनकी शिकायतों से संबंधित सभी जानकारी व तथ्यों के साथ उपस्थित होकर आवश्यक जानकारी उपलब्ध करा सकें। जिलाधिकारी ने उपस्थित सदस्यों के मनरेगा अंतर्गत बनाए जाब कार्डों को लेकर आई रही विषमताओं को लेकर न्याय पंचायत स्तर पर रोस्टरवार शिविर आयोजित करने तथा सोशल आडिट की सूचना संबंधित क्षेत्र के जिला पंचायत व क्षेत्र पंचायत सदस्यों को दिए जाने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए।

इससे पूर्व अपर मुख्य अधिकारी, जिला पंचायत ने पिछली बैठक की कार्यवाही की पुष्टि की। बैठक में जिला पंचायत सदस्य भारत भूषण भट्ट, गणेश चंद्र तिवारी, विनोद सिंह राणा, सुमन नेगी, कुलदीप सिंह कंडारी, भूपेन्द्र लाल, सविता देवी, बबीता देवी, मंजू देवी, कुसुम देवी, ज्योति देवी, सुनीता देवी ने भी अपने शिकायतों सदन के सम्मुख रखी। इस अवसर पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री सुमंत तिवारी, संयुक्त मजिस्ट्रेट/ उपजिलाधिकारी सदर जयकिशन, प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी सुश्री मनविदर कौर, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सुनील कुमार, परियोजना निदेशक रमेश चन्द्र, मुख्य शिक्षा अधिकारी सी.एन. काला समेत सभी विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Jagran