संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: जखोली विकास खंड के एक अशासकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य के विद्यालय की ही छात्रा का उत्पीड़न व छेड़छाड़ मामले ने तूल पकड़ लिया है। विभाग ने भी विद्यालय प्रबंधन समिति से जबाव मांगा है और प्रशासनिक स्तर पर जांच शुरू कर दी है, वहीं पुलिस भी इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने जा रही है, डीएम ने भी इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए कहा कि यदि मामले में छात्रा के उत्पीड़न साबित होता है तो कठोर कार्रवाई की जाएगी।

एसएसएस शिविर के दौरान प्रधानाचार्य की ओर से विद्यालय की छात्रा के उत्पीड़न व छेड़छाड़ का मामला पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया में चल रहा था। विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होने के बाद पुलिस, प्रशासन व विभाग ने इसे गंभीरता से लिया है। सभी ने अपने स्तर से जांच शुरू कर दी है। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि बाल अपराध की ²ष्टि से यह बेहद गंभीर मामला है, इसमें दोषी जो भी होगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। वहीं सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से पुलिस भी इस माले को काफी गंभीरता से ले रही है। इस की मामले की शिक्षा विभाग भी प्रशासनिक स्तर से विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह ने बताया कि प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराई जा रही है। इसके लिए टीम गठित कर दी गई है। जल्द पूरे मामले की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। यदि लिखित शिकायत मिलती है, तो तत्काल एफआइआर दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाएगी। मुख्य शिक्षा अधिकारी सीएन काला ने बताया कि खंड शिक्षाधिकारी को मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ ही प्रधानाचार्य व विद्यालय प्रबंधन समिति से भी जवाब मांगा जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस