मदकोट, जेएनएन : जिले के सबसे बड़े आलू उत्पादक क्षेत्र मदकोट के काश्तकार अपना उत्पादन बाजार तक नहीं पहुंचा पा रहे हैं। सड़कों की खराब हालत के चलते आलू गांवों में ही सड़ रहा है। परेशान किसानों ने सड़कों की हालत अविलंब सुधारे जाने की मांग प्रशासन से की है।

मदकोट क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गैला, तोमिक, बोना, गोल्फा बड़े उत्पादक गांवों में शामिल है। क्षेत्र के अंतर्गत दो से ढाई हजार कुंतल तक आलू का उत्पादन होता है। कई परिवार आलू उत्पादन से ही अपनी आजीविका चलाते हैं। इस वर्ष मानसून काल में क्षेत्र में भारी बारिश ने सड़कों की हालत बिगाड़ दी है। सड़कें यातायात के लिए खोल दी गई हैं, लेकिन सड़कों भारी मात्रा में कीचड़ और मलबा जमा होने से माल वाहक वाहन संचालित नहीं हो पा रहे हैं। क्षेत्र के आलू उत्पादक विक्रम सिंह ने बताया कि गैला-तोमिक सड़क अभी भी बंद पड़ी है, किसानों का आलू गांव में ही सड़ रहा है। क्षेत्र के अन्य गांवों में भी यही स्थिति है। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि जल्द खराब सड़कों की हालत सुधारी जाए ताकि किसान अपना आलू बाजार तक ला सके। दस दिन के भीतर आलू बाजार तक नहीं पहुंचता है तो नमी के चलते उत्पादन सड़ जाएगा। क्षेत्र के तमाम अन्य काश्तकारों ने भी अपना उत्पादन बाजार तक पहुंचाने में मदद के लिए प्रशासन से गुहार लगाई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस