संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़ : जिला मुख्यालय के निकटवर्ती थरकोट क्षेत्र में जंगली सुअरों का आतंक बढ़ गया है। सुअरों ने खरीफ की फसल को चौपट कर दिया है। बड़ी मेहनत से तैयार की गई खेती को इस तरह से बर्बाद होता देख किसान परेशान हैं। उन्होंने वन विभाग से अविलंब सुअरों के आतंक से निजात दिलाने की मांग की है।

काश्तकार मनोज रावल ने बताया कि सुअरों ने थरकोट इलाके में जबरदस्त आतंक मचा रखा है। झुंड में आ रहे सुअर खेतों को खोद रहे हैं। अंधेरा होते ही सुअरों का झुंड खेतों में पहुंच जा रहा है। सुअरों ने खेतों में तैयार धान, मडुवा, भट्ट, उड़द आदि की पचास फीसदी से अधिक फसल बर्बाद कर दी है। इसके अलावा साग-सब्जी को भी सुअर काफी नुकसान पहुंचा रहे हैं। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के अधिकांश ग्रामीणों का जीवनयापन खेतीबाड़ी करके ही चलता है। सुअरों के आतंक से किसान परेशान हो गए हैं। काश्तकारों का कहना है कि उनकी आंखों के सामने सुअर फसल को नष्ट कर रहे हैं, मगर वह कुछ भी कर पाने में असमर्थ हैं। सुअरों के भय से महिलाओं का चारे के लिए खेतों पर जाना भी मुश््िरकल हो गया है। इसके अलावा क्षेत्र में गुलदार का आतंक भी बना हुआ है। जिस कारण ग्रामीण घरों पर कैद होने को मजबूर हैं। क्षेत्रवासियों ने अविलंब जंगली जानवरों से निजात नहीं दिलाने पर जिला मुख्यालय पहुंचकर धरना-प्रदर्शन करने की धमकी दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप