संवाद सूत्र, डीडीहाट: नंदा महोत्सव के तीसरे दिन सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। जोहार महिला जनजागृति संगठन व स्थानीय कलाकारों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। लोकगीतों पर दर्शकों ने जमकर आनंद उठाया। किरोली का छोलिया नृत्य, हिमालयन के बच्चों का ताइक्वांडो विशेष आकर्षण का केंद्र रहा। रविवार को छुट्टी का दिन होने से भारी संख्या में लोग महोत्सव को देखने पहुंचे।

महोत्सव के तीसरे दिन के कार्यक्रमों का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व जिपं अध्यक्ष किशन भंडारी ने किया। इस मौके पर उन्होंने महोत्सव कमेटी को 51 हजार की नगद धनराशि प्रदान की। उन्होंने हिमालयन के बच्चों की ताइक्वांडो प्रस्तुति व किरोली के छोलिया नृत्य से प्रभावित होकर छोलिया दल को ढाई हजार व ताइक्वांडों दल को 11 हजार की नगद धनराशि प्रदान की। झोड़ा-चांचरी में बिन्नी महर व चंद्र प्रकाश ने अपने प्रस्तुति दी। इसके अलावा जोहार महिला जनजागृति संगठन, ग्रामसभा ढुंगैती, सरस्वती शिशु मंदिर, सूर्य माउंटेश्वरी इंटर कॉलेज, मल्लिकार्जुन एकेडमी ने आकर्षक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इससे पूर्व शुभारंभ अवसर पर कमेटी के अध्यक्ष दुष्यंत पांगती ने अतिथियों का शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अजीत पाल डसीला, चंदू पाल, कै. लक्ष्मण टोलिया, रू द्र सिंह रावत, पुष्कर पांगती, पूरन टोलिया, नरेंद्र टोलिया, संजू पंत, प्रहलाद मेहरा, गोविंद दिगारी, लोकेश भड़ आदि मौजूद रहे। महोत्सव के सफल आयोजन में जीजीआइसी की एनसीसी कैडेट, पुलिस प्रशासन, युवा शक्ति का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है ऐंण प्रतियोगिता में राबाइंका की हिमानी व श्वेता अव्वल

महोत्सव के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया। ऐंण (कुमाऊंनी मुहावरे) में राबाइंका की हिमानी व श्वेता ने प्रथम व कुणियां गांव की कमला व सरस्वती ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। मेहंदी प्रतियोगिता में निधि गोसाई ने प्रथम, निशा ग्वाल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। मटका फोड़ में लक्ष्य कठायत ने प्रथम व शिवम ठकुराठी ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। झोड़ा चांचरी में जीजीआइसी प्रथम व सूर्य माउंटेश्वरी द्वितीय स्थान पर रहा। मेराथन सीनियर वर्ग में ललित प्रसाद प्रथम व कृष्णा चुफाल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। जूनियर वर्ग में नवल किशोर प्रथम व योगेंद्र प्रसाद द्वितीय स्थान पर रहे। प्रतियोगिता में सत्यम जोशी, अंजू भड़, प्रहलाद मेहरा, गोविंद दिगारी निर्णायक की भूमिका में रहे।

विजय उप्रेती

Posted By: Jagran