नाचनी (पिथौरागढ़), जेएनएन : अठारह साल बाद दो वर्ष पूर्व से शुरू हुई रामलीला मंचन इस बार कोरोना के चलते स्थगित कर दी गई है। इस मौके पर कलश यात्रा निकालने के बाद हवन कर प्रसाद वितरण किया गया।

तल्ला जोहार के नाचनी में पूर्व में रामलीला मंचन होता था। कुछ कारणों से यहां पर अठारह वर्षों तक रामलीला मंचन बंद रहा। वर्ष 2018 में रामलीला कमेटी और क्षेत्र के प्रमुख समाजसेवी खुशाल सिंह पिपलिया की पहल पर रामलीला मंचन प्रारंभ किया गया। विगत दो वर्षों के बीच रामगंगा और भुजगड़ नदी के संगम स्थल पर सफल रामलीला मंचन का आयोजन किया गया। नाचनी की रामलीला को देखने तल्ला जोहार, बांसबगड़, नापड़ से लेकर बागेश्वर जिले के एक दर्जन से अधिक गांवों के दर्शक जुटते थे। इस वर्ष अन्य रामलीला मंचन की तरह ही नाचनी की रामलीला भी कोरोना की भेंट चढ़ चकी है।

गुरु वार को रामलीला कमेटी की बैठक हुई। जिसमें कोविड 19 के खतरे को देखते हुए रामलीला मंचन नहीं करने का निर्णय लिया गया। इस निर्णय के साथ ही रामलीला मंच पर हवन करने का फैसला किया गया। इससे पूर्व महिलाओं ने सूक्ष्म कलश यात्रा निकाली। मंच पर रामलीला कमेटी के पदाधिकारियों द्वारा वैदिक मंत्रों के साथ हवन किया। हवन के दौरान विश्व को कोरोना से मुक्ति दिलाने के लिए भगवान राम से प्रार्थना की गई। ========== ग्राम सभा फागपुर में रामलीला मंचन का श्रीगणेश बनबसा : ग्राम सभा फागपुर में बुधवार को रामलीला का मंचन शुरू हो गया है। रामलीला के प्रथम दिन रामलीला का मंचन नटी सूत्रधार से रावण विभीषण और कुंभकरण द्वारा भागवान शिव से वरदान मागने और भगवान राम के जन्म तक की लीला का मंचन किया गया। इससे पूर्व रामलीला मंचन का शुभारंभ युवा व्यापारी मनोज मित्तल ने किया। इस अवसर पर उन्होने भगवान राम के आदर्शो का अनुसरण करने का आह्वान किया। रामलीला मंचन में नटी सूत्रधार के पात्र की भूमिका शुभम, भगवान शिव मनोज करमाकर, पार्वती निखिल रावण कमलापती जोशी, कुंभकरण किशोर, विभीषण केशव ने निभाई। इस अवसर पर ग्राम प्रधान हर्ष बहादुर चंद, कमेटी के अध्यक्ष मनोज कालाकोटी, कोषाध्यक्ष लक्ष्मण राम, कल्याण राम के अलावा तमाम लोग मौजूद रहे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप