जासं, पिथौरागढ़ : नगर के विभिन्न क्षेत्रों में पेयजल संकट गहरा चुका है। नगर के विवेकानंद कॉलोनी और दूसरे छोर पर स्थित दौला गांव में स्थिति गंभीर हो चुकी है। विवेकानंद कॉलोनी में नलों से बूंदें टपक रही हैं तो दौला में 15 दिनों से नल सूखे हैं।

घाट पंपिंग पेयजल योजना के ठप होने और ठूलीगाड़ पंपिंग पेयजल योजना के बंद होने से नगर में पेयजल संकट गहराता जा रहा है। इस समय नगर में मांग से आधा पानी ही मिल पा रहा है। जल निगम संचालित आंवलाघाट पंपिंग पेयजल योजना से मिल रहा छह एमएलडी पानी नगर की प्यास बुझा रहा है। नवनिर्मित इस योजना से अभी पूरा क्षेत्र नहीं जोड़ा गया है। जिसके चलते नगर के कुछ क्षेत्रों में स्थिति खराब है। नगर के मध्य स्थित विवेकानंद कॉलोनी में कभी कभार ही नलों पर पानी आता है। काफी कम समय के लिए आने वाले पानी से लोगों के बर्तन खाली रह जाते हैं। कालोनीवासियों का कहना है कि मात्र दस से बारह मिनट पानी आता है। लोगों को दूसरे मोहल्लों में जाकर पानी भरना पड़ रहा है।

दूसरे छोर पर स्थित दौला वार्ड में विगत पंद्रह दिनों से जलापूर्ति ठप है। इस क्षेत्र में कनारी पाभैं से पाइप लाइन बिछी है। जिसमें गड़बड़ी आने से पानी की आपूर्ति बंद पड़ी है। टैंक तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। नगरपालिका क्षेत्र में शामिल दौला गांव में लोगों द्वारा जानवर पाले गए हैं। जानवरों के लिए पानी जुटाना मुश्किल हो चुका है। वार्डवासियों का आरोप है कि जल संस्थान पानी की आपूर्ति कर पाने में सक्षम नहीं हैं। सोमवार को वार्ड मेंबर भावना नगरकोटी के नेतृत्व में डीएम को पत्र सौंपा गया है। जिसमें शीघ्र व्यवस्था में सुधार नहीं होने पर जनता के सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी गई है। पत्र सौंपने वालों में भूपेश नगरकोटी, भगवान बिष्ट, सीएस नगरकोटी, जगदीश नगरकोटी, कमलेश नगरकोटी, शिवम नगरकोटी, राजेंद्र भट्ट आदि शामिल थे। वर्जन

नगर की पेयजल आपूर्ति सुचारू करने का प्रयास किया जा रहा है। जिन क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति बाधित हो रही है वहां पर व्यवस्था अविलंब ठीक कर दी जाएगी।

-अशोक कुमार , ईई जल संस्थान पिथौरागढ़

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस