पिथौरागढ़, जेएनएन : आगामी मानसून काल में जिले में अतिवृष्टि, भूस्खलन, बाढ़ जैसी आपदा की घटनाओं को रोके जाने और घटना के उपरांत बचाव एवं अन्य कार्यो के लिए की जाने वाली तैयारियों पर चर्चा की गई। मानसून काल को देखते हुए सिंचाई विभाग को धारचूला के साथ नाचनी में भी बाढ़ चौकी स्थापित करने के निर्देश दिया गया है।

मंगलवार को जिलाधिकारी डॉ. वीके जोगदंडे की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मानसून काल से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की गई। आपदा काल में सेना और अ‌र्द्धसैनिक बलों के सहयोग को देखते हुए उनके साथ लगातार संपर्क बनाए रखने को कहा गया। बैठक में संबंधित विभागों को एक सप्ताह के भीतर तैयारियां पूरी कर विभागीय कार्ययोजना जिला आपदा परिचालन केंद्र में उपलब्ध कराने को कहा गया। कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के दिखाई जा रही एकजुटता मानसून काल में रही बरकरार रखने को कहा गया। वर्तमान में क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए विद्यालयों, पंचायत भवनों आदि को राहत शिविर नहीं बनाया जाएगा। ========= तीन दिन के भीतर पुलों और सड़कों की देनी होगी रिपोर्ट मानसून काल को देखते हुए लोनिवि को जिले भर की सड़कों और पुलों की रिपोर्ट तीन दिन के भीतर देनी होगी। रिपोर्ट में जिले भर के पुलों की वर्तमान स्थिति, भार क्षमता का ब्यौरा देना होगा। मानसून काल में भूस्खलन से चिन्हित संवेदनशील क्षेत्रों में जेसीबी मशीन सहित अन्य उपकरण तैनात रखने होंगे। डीएम ने उपकरणों की तत्काल मांग करने के अधीक्षण अभियंता लोनिवि को निर्देश दिए हैं। ========= हेलीपैडों की होगी मरम्मत, वैकल्पिक मार्गो पर लगेंगे डिस्प्ले बोर्ड जिले के सभी हेलीपैडों की मरम्मत होगी। जिसके लिए लोनिवि को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। आपदा काल में मार्ग बंद होने पर वैकल्पिक मार्गो पर डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएंगे। ========== उच्च हिमालय में तीन माह का राशन का होगा भंडारण मानसून काल को देखते हुए जिले की तीनों उच्च हिमालयी घाटियों सहित दूरस्थ क्षेत्रों के खाद्यान्न गोदामों में जुलाई से लेकर सितंबर माह तक का राशन का भंडारण किया जाएगा। सभी पेट्रोल पंपों पर तीन माह का तेल का स्टाक और रसोई गैस की व्यवस्था सुनिश्चित रहेगी। सभी स्वास्थ्य केंद्रों में एंबुलेंस और पर्याप्त दवाइयां रखी जाएंगी। ========= 19 सेटेलाइट फोन उपलब्ध मानसून काल में संचार की समस्या से निपटने के लिए जिले में 19 सेटेलाइट फोन उपलब्ध हो चुके हैं। संचार व्यवस्था गड़बड़ाने तथा संचार विहीन क्षेत्रों में सेटेलाइट फोन और पुलिस संचार व्यवस्था के लिए पर्याप्त रेडियो सेट उपलब्ध हो चुके हैं। ======== बैठक में मौजूद अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी डॉ. सौरभ गहरवार, पुलिस अधीक्षक प्रीति प्रियदर्शिनी, एडीएम आरडी पालीवाल, अपर पुलिस अधीक्षक संचार बीसी तिवारी के अलावा लोनिवि, आरइएस, पीएमजीएसवाई, एडीबी, सिंचाई, ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारी ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस