धारचूला, जेएनएन : कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग पर तवाघाट में नया वैली ब्रिज बनाने की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। पुल निर्माण के लिए सारा सामान पहुंच चुका है। पुल टूटने नदी में गिरे ट्राला और मशीन को निकालने के लिए खाई तक सड़क बना दी गई है।

कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग पर रविवार को तवाघाट में धौली नदी पर बने वैली ब्रिज में क्षमता से तीन गुना अधिक पौकलैंड मशीन ले जा रहे ट्राला डाल दिए जाने से पुल टूट गया था। पुल टूटने से चीन सीमा तक का क्षेत्र अलग-थलग पड़ गया। बीआरओ द्वारा यहां पर विकल्प के तहत एक लकड़ी का पैदल पुल बनाया। इसी पुल से पैदल आवाजाही कर ट्रांसमेनसिप के जरिए आवागमन चल रहा है। जिससे संकट तो दूर हुआ, परंतु जनता को परेशानी झेलनी पड़ रही है। बीआरओ ने दस दिन के भीतर नया वैली ब्रिज बनाने का दावा किया है। इस दावे के तहत बीआरओ द्वारा पुल निर्माण के लिए सारा सामान तवाघाट पहुंचा दिया है।

पुल निर्माण से पूर्व पुल टूटने से गिरी मशीन को निकालने के लिए जेसीबी से मशीन के पास तक सड़क भी काट दी गई है। मशीन को निकालने का प्रयास जारी है। मशीन निकालने के साथ ही पुल निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। पुल बनने के बाद भी तवाघाट से आगे स्थिति सामान्य हो सकेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस