जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़ : नगर पंचायत बेरीनाग के भट्टी गांव निवासी पंद्रह वर्षीय किशोर की काली ताल में नहाने के दौरान डूब कर मौत हो गई है। किशोर कक्षा 11 में पढऩे वाला छात्र था।

नहीं मिला बचाने का मौका

शनिवार को भट्टी गांव निवासी राहुल चन्याल 15 वर्ष पुत्र भगत राम अपने दो दोस्तों के साथ बेरीनाग से लगभग छह किमी दूर काली ताल में नहाने गया था। नहाने के दौरान राहुल अचानक डूबने लगा तो साथियों द्वारा उसे बचाने का प्रयास किया गया परंतु देखते ही देखते वह डूब गया। उसके साथियों सहित शोर मचाने पर स्थानीय लोग वहां पर पहुंचे और 112 पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही बेरीनाग से प्रभारी थानाध्यक्ष मनोज पांडेय , एसआइ रवींद्र पांगती, जवान नरेंद्र मेहता, नीरज चंद और मोहन रसवाल मौके पर पहुंचे ।

पिता व मां का हो चुका है निधन

पुलिस टीम ने काफी मशक्कत से ताल में डूबे राहुल को निकाला और स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां पर डा. संदीप ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक छात्र राइंका बेरीनाग में कक्षा 11 का छात्र था। मृतक के पिता भगत राम की तीन वर्ष पूर्व और मां की नौ माह पूर्व निधन हो गया था। चार भाई और एक बहन का लालन पालन इस समय उसका चाचा मोहन राम कर रहा है। मृतक राहुल भाई ,बहनों में तीसरे नंबर का था। सरपंच कैलाश चन्याल ने प्रशासन से गरीब परिवार को मुआवजा देने की मांग की है। इस घटना पर विधायक फकीर राम टम्टा और एसडीएम एके शुक्ला स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। नगर पंचायत अध्यक्ष हेम पंत, ब्लॉक प्रमुख विनीता बाफिला, वार्ड मेंबर देवकी देवी,पूरन राम आदि ने घटना पर शोक जताया है।

चेतावनी बोर्ड के बाद भी नहाने पहुंच रहे हैं काली ताल

काली ताल में प्रतिवर्ष नहाने के दौरान डूबने की घटना घट रही हैं। 2019 में बागेश्वर के चंतोला गांव निवासी युवक और 2021 में हल्द्वानी निवासी एक युवक की डूबने से मौत हो गई थी। स्थानीय ग्रामीणों और क्षेत्र की जनता ने काली ताल को नहाने के लिए बंद करने की मांग की थी। वहीं प्रशासन ने काली ताल पर चेतावनी बोर्ड लगा कर आगाह किया । इसके बाद भी काली ताल में नहाने के लिए आना बंद नहीं हुआ है।

Edited By: Rajesh Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट