संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़ : भारी बारिश ने बुधवार की रात सीमांत क्षेत्र में जमकर कहर बरपाया। मुनस्यारी के मल्ला जौहार से लेकर धारचूला तक कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए। पैदल पुलों का नामोनिशान मिट गया। सैकड़ों नाली उजजाऊ भूमि मलबे से पट गई।

मदकोट क्षेत्र के नारथी गांव में जगत सिंह कुंवर का मकान ध्वस्त हो गया। घर में मौजूद किशनी देवी मलबे की चपेट में आने से गंभीर रूप से घायल हो गई। उन्हें मुनस्यारी सामुदायिक स्वास्थ केंद्र में भर्ती कराया गया है। जोशा गांव में प्रेम राम व जगत राम और निरतोली गांव में पान सिंह के मकान में मलबा भर गया। प्रयाग सिंह की बाइक मलबे के ढेर में दब गई। मदकोट बाजार में गनघरिया लाज के भूस्खलन से खतरे में आई दो दुकानों को खाली करा लिया गया है। गोलमा गांव में आंगनबाड़ी केंद्र का आंगन ढह गया और गांव की पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। गोरी पुल तक मलबा पहुंच जाने से डेढ़ घंटे यातायात बाधित रहा। बैगा, डोबरी और नारथी गांवों में संपर्क मार्गो का नामोनिशान मिट गया है। तोमिक क्षेत्र को जोड़ने वाला डोलमा पत्थरकोट पैदल पुल और धारीखेत तल्लागैरा गांव में बना पुल भी बारिश में बह गया है। घिंघरानी गांव निवासी पवन कापड़ी नाले को पार करने के दौरान पैर फिसलने से नाले में जा गिरा। जिससे वह गंभीर रू प से घायल हो गया।

गंगोलीहाट तहसील के डूनी गांव में प्रताप सिंह कफलाड़ी गांव में जगदीश राम का मकान क्षतिग्रस्त हो गया। परिवार ने भी गांव में ही दूसरे व्यक्ति के मकान में शरण ले रखी है।

मुनस्यारी के माणीधामी गांव में श्याम सिंह को दोमंजिला मकान ध्वस्त हो गया। जिमीघाट में पुल बह जाने से मल्ला जौहार के 14 गांव अलग-थलग पड़ गए हैं। गोरीपार क्षेत्र के बसंतकोट गांव में निर्माणाधीन सड़क का मलबा खेतों में भर जाने से फसल चौपट हो गई।

--------

मदकोट में पेयजल का संकट

मदकोट: बारिश से मदकोट कस्बे को पेयजल की आपूर्ति करने वाली पेयजल योजना क्षतिग्रस्त हो गई है। इसके चलते लोगों को प्राकृतिक जल स्रोतों के आगे लाइन लगानी पड़ी।

----------

नेशनल हाइवे पर फिर आया मलबा

पिथौरागढ़: भारी बारिश से टनकपुर-तवाघाट नेशनल हाईवे पर लखनपुर के पास मलबा आ गया, जिससे घंटों यातायात ठप रहा। धारचूला आने जाने वाले यात्री मार्ग में फंसे रहे। इसके अलावा बीस आतंरिक मोटर मार्ग मलबा आ जाने से बंद रहे। ग्रामीण क्षेत्रों के मोटर मार्ग बंद होने से आम जनता को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप