पिथौरागढ़, जेएनएन : देव सिंह मैदान में प्रदर्शनी आयोजन विवाद ने तूल पकड़ लिया है। मामले के विरोध में मंगलवार को नगर पालिका के 11 सभासदों ने सामूहिक इस्तीफा दे दिया। ऐसे में प्रदर्शनी को लेकर नगर पालिका में राजनीतिक संकट भी गहरा गया है।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे को सौंपे इस्तीफे में सभासदों ने कहा कि देव सिंह मैदान में खेल प्रतियोगिताओं के अतिरिक्त अन्य किसी आयोजन पर हाई कोर्ट ने रोक लगाई है। इसके बावजूद एक निजी संस्था को बुलाकर प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। हालांकि नगर के ही लिंठयुड़ा वार्ड में इस तरह के आयोजनों के लिए मैदान बना हुआ है। वहां सहकारिता विभाग प्रदर्शनी का आयोजन कर चुका है।

सभासदों ने कहा कि देव सिंह मैदान में प्रदर्शनी आयोजन को लेकर विरोध जताते हुए जिलाधिकारी से कार्रवाई की मांग की थी। लेकिन प्रशासन की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया। मजबूर होकर सभासदों ने सामूहिक इस्तीफा देने का निर्णय लिया। =========== इन्होंने दिया इस्तीफा

दौला वार्ड की भावना नगरकोटी, सिनेमालाइन के पवन सिंह माहरा, सिमलगैर के अनिल जोशी, लुंठयुड़ा के राधिका लुंठी, नया बाजार के अनिल माहरा, कुमौड़ के नीरज कुमार, शिवालया की राधा सूंठा, भाटकोट की सरस्वती मखौलिया, कृष्णापुरी के रवींद्र सिंह बिष्ट, तिलढुकरी की हेमा, पांडेगांव के कमल कुमार पांडेय ने मंगलवार को डीएम को सामूहिक इस्तीफा सौंप दिया। ========= हाई कोर्ट में आज ईओ व डीएम हो सकते हैं पेश

देब सिंह मैदान में प्रदर्शनी आयोजन का मामला हाई कोर्ट भी पहुंच चुका है। कोर्ट ने खेल मैदान में प्रदर्शनी के आयोजन को लेकर डीएम और नगर पालिका के ईओ को 18 दिसंबर को व्यक्तिगत रू प से तलब किया है। ऐसे में देखना अहम होता है कि कोर्ट का प्रदर्शनी पर रुख क्या होता है।

प्रदर्शनी को लेकर पूर्व नगर पालिका सभासद सुबोध बिष्ट ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। उनका कहना है कि वर्ष 2014 के बाद किसी भी प्रकार की प्रदर्शनी पर रोक लगा दी गई है। ऐसे में हाई कोर्ट ने उनकी याचिका को स्वीकार करते हुए पिथौरागढ़ के डीएम और नगर पालिका के ईओ को व्यक्तिगत रू प से तलब कर लिया। ============= सामूहिक नहीं, व्यक्तिगत इस्तीफा दो : रावत

जासं, पिथौरागढ़: देव सिंह मैदान में आयोजन को लेकर खफा सभासदों के सामूहिक त्यागपत्र का मामला अब जोर पकड़ चुका है। सामूहिक त्यागपत्र के इस मामले को लेकर पालिकाध्यक्ष राजेंद्र रावत भी सामने आ चुके हैं। उन्होंने कहा है कि त्यागपत्र देने वाले सभासद सामूहिक नहीं बल्कि व्यक्तिगत रू प से त्यागपत्र दें। नगरपालिका अध्यक्ष राजेंद्र रावत ने कहा कि जनता की मांग पर देव सिंह मैदान में नव वर्ष महोत्सव के आयोजन का प्रस्ताव नगरपालिका में रखा गया था। समस्त सभासदों द्वारा इसमें हामी भरते हुए महोत्सव के आयोजन के लिए अनुरोध किया गया। सभासदों की मांग पर ही आयोजन के लिए आगे की कार्रवाई की गई। कहा कि इसकी तैयारी विगत कई दिनों से चल रही थी। इधर सामूहिक इस्तीफे में शामिल बताए जा रहे खड़कोट के सभासद किशन खड़ायत ने अपने इस्तीफा से अनभिज्ञता जताई है। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा इस्तीफा नहीं दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस